Latest Articles

  • Khud ko rok na saki maa ki chudai Indian sex story

    Dosto mera naam Raj hai, aur mai aake liye bahut dino baad ye kahani laya hu. Corona ke vajah se sab gharo mai baithe the. Ghar ke ander jo jo hota tha woh bas un logo ko hi pata hai.

    Aisi hi meri kahani hai, meri maa ka naam Asha hai. Umar 44 sal, dhal gayi hai par abhi bhi nangi dekhoge toh lund khada kardegi. Use bra panty pehene ki aadat nahi isliye mamme jhuke hue the.

    Hua yuh mera papa jo ki ambulance driver hai corona ke kaal mai hum par bhari sankat aaya. Voh ambulance driver hone ke karan hospital ne unhe ghar jaane se mana kiya tha. Woh vahi par rehte the.

    Tab ghar mai akele mai aur meri maa hi thi. Pehle 2 mahine toh mahol pura gadbada gaya tha. Maa harroj roti thi papa se baat karte hue. Kunki tabi corona ka asar bahut tha.

    Dhire dhire jab uska asar kam hua tab papa ghar par aane lage lekin bahar hi baith the aangan mai. Vahi par nahakar khana khake hamse duri banake baate karte the aur jaate the.

    Unko chutti hi nahi thi kunki kabhi kahi bhi patients ko lane chodne jana padta tha. Iska ek humko fayda hua woh apne pagar se 4-5 guna paisa kama rahe the. Mano toh lakho mai.

    Ab thoda mahol thik hone laga tha ghar ka. Dosto lekin maa tension mai rehti tab mai hi use sahara deta tha. Maa ghar mai maxi pehen ti thi jiske ander kuch nahi toh maaa ko jab mai gale lagata toh mujhe uske bobe mehsus hone lage the.

    Ab maa ko chute hi mujhe sex ka man hone lagta tha. Mera lund ander uchalta tha. Mai maa ko ghanto tak apni baho mao bharke sota tha. Uske baal sehlata, peeth sehlata tha. Usko bhi iski aadat lag gayi thi.

    Ek din papa dupher ko hamse milkar vapas jaane ke baad maa udas hogayi thi. Mai aise hi bistar par pada tha wo aakar mere baho mai aa gayi. Maine shirt nahi pehni thi pehle uska hath meri chati par ghum raha tha.

    Wo mere nipples ko nichod rahi thi daba rahi thi. Usne apna ghutna uthaya aur jhang mere barabar lund par rakh di aur masalne lagi. Mera khada ho gaya tha.

    Par mai chahta tha ki maa samne se khud bole chod mujhe. Isliye mai sirf ignore karke mobile mai movie dekh raha tha. Maa ne mujhe dekha mera dhyan nahi hai woh aur pagal ho gayi.

    Usne mere chati ko muh lagaya aur chusne lagi. Meri halat puri kharab hogayi thi. Aisa lag raha tha abhi chadh jau maa ke upper maxi phad kar use chod du.

    Tabhi maa ne ek step aage badhte hue sidhe mere upper chadh gayi. Aur mere khade lund par baith gayi apni chut ghisne. Aapko bata nahi sakta us waqat meri hala kya thi. Maa khulle aam mere upper ud rahi thi.

    Aur tabhi mera sabar ka para tut gaya. Maine mobile niche pheka aur uski kamar ko pakda uske ankho mai mujhe meri maa nahi ek hawas se bhari rand dikh rahi thi.

    Maa niche jhuk gayi aur vapas meri chati chusne lagi. Is baar mera hath maa ke gaand par tha. Mai gaand daba raha tha. Beech mei ungli ghusa raha tha. Maine maa ko niche kar uske upper chadha aur gardan ko chaatne laga, chumne laga.

    Maa ne pair failya aur mujhe ander leke mere baalo mei hath dala aur siskia lene lagi aah aaah mai maa ke gardan par kata. Upper hote hue maine sidha muh mai muh de diya.

    Aur hatho se uske mammo ko masal raha tha. Woh kiss mai puri ghus gayi thi. Khud niche se gaand utha utha kar lund ko ghise jaa rahi thi. Main jab alag hua maa uth kar baithi aur khud maxi utaare lagi maine bhi pant utaari aur underwear mai aa gaya.

    Maa puri nangi hoke mere upper aa gayi. Pura bistar hum ek dusre par the. Maine maa ke mammo ko chusna chalu kiya baccho jaise. Wo baal sehlate hue mujhe mamme chusva rahi thi.

    Uske baad maine uske pair failaye aur sidh chut mai dubki lagayi. Jaise mere jib ne uske chut par kabu kar lia woh chillane lagi thi.
    Aaaaaaaaaahhhhhhhhhaaa, sssssahhhaaa, ohfffff, ooooffffffffuuuuu, hmmmmmm, mmmmmmmmmmmmmm uski chut puri gili kar di thi maine.

    Maa boli bas beta abhi nahi raha jaa raha chod de mujhe maine chaddi nikali aur lund chut par rakha tabhi maa ne lund hath mai pakda aur dabocha. Phir chut par lagake boli dal ander. Chut gili hone ke kara pura ek hi dhakke mai ander gaya.

    Usne mujhe pakde rakha thodi der waise hi. Uske baad dhirr dhire mai ander bahar karne laga woj mujje chod hi nahi rahi thi. Shayad uska pano nikla tha. Phir thodi der baad dhilli padi woh tab mai utha aur use chodne laga.

    Uske chehre ke expression dekh mai aur joshila ho raha tha. Shayad wo vapas garam ho gayi thi. Usne niche se gaand uthakar chudwana chalu kiya. Mere baalo ko pakad rahi hai. Kabhi gaand pakad kar upper utha rahi hai.

    Mujje apne aapn mai pairo se jakadna chalu tha. Ab wo charam seema par aa gayi thi woh sirf aaaah karte reh karte reh aaah aise hi kar naa ruk mat ruk mat beta aise bolne lagi.

    Mai bhi lagane laga aur mujhe khud pata nahi chala mera nikalne wala hai maine uske ander pura mera maal chod dia. Jaise hi maa gaya mai uske upper khudko gira dia aur dhilla pad gaya. Aisa laga meri puri takat chali gayi.

    Maa ne lund bahar niklne nahi dia bilkul, uski jhange kaap rahi thi. Woh mere se jyada ardh mari hogayi thi. Adhe ghanet tak hum aise hi pade rahe. Uske baad mai side mai hoke let gaya. Maa tabhi bhi nangi hi leti rahi aur mai bhi.

    Sham ko chai ka time hogaya tha tabhi maine maa ke gaand par chpet mara aur use baho mei bhar mamma muh mei daal chusne laga. Maa bhi mood mai aa gayi tab maine maa se mera lund chuswaya kamal ka lund chusti hai woh phir is baar maa upper aakar mujhe chod rahi thi.

    Mai niche se maa ko le raha tha. Uske baad hum apne aapne kaam mai lag gaye. Tabhi maa ekdum aise bartaav kar rahi thi jaise kuch hua hi nahi. Mai khud soch mai padgaya kahi sapna toh nahi tha.

    Par niche lund mai alag hi mehsus ho raha tha. Raat ko khana khate hue maa ne sirf mujhe dekh kar kaha aaj se mere sath sona papa aane tak. Aapna saman kamre mai shift karde. Tab jara dil ko sukoon mila.

    Raat ko mai sab kaam kar papa ke kamre mai bistar par underwear par leta tha. Maa saare kaam nipta kar aayi. Mujhe dekha maa ka gown thoda sa gila ho gaya tha bartan manjhne ke vajah se. Maa ne khudnko aayne mai dekha jara sa baal thik kiye, moisturizer lagaya aur maxi utaari aur nangi hoke light band kar bistar par aa gayi.

    Mai bahut excited tha, maa aur mai ek hi chaddar mai the. Maa aur mai baho mai aagye. Maa mere lund ko sehla rahi thi. Us raat bhi maine 3 shot lagaye maa ko.

    Maa ka stamina mujhe aaj pata chala. Aurte asal mai bahut gajab hoti hai. Mard toh yuhi naam ka mard hai. Hum log 4 baje soye kuch woh bhi mai thak gyaa mujhse jaa nahi raha tha isliye.

    Subah 12 baje ankh kuli woh bhi maa ne uthya Woh bhi adhe ghante pehel uthi thi. Wo nangi thi nahake aayi thi bathroom se. Woh bolne lagi uth jaldi 12 baj gaye.

    Mujhe papa ke liye khana banana hai time nahi jyada. Usne vahi kal ki bed ke niche padi hui maxi uthai usse pair failake chut aur jhang pochi, phir mamme aur bagal aur vahi pehen ke kitchen chali gayi.

    Mai bathroom mao gaya mutne hai hai mera lund suj gaya tha. Ek ek boond mutte hue bhi dukj raha tha. Ek din mai 5 baar chudai karunga voh bhi pehli bar toh kya hoga.

    Garam pani se sekh ke thoda aacha laga bahar aakar tel lagaya. Aur din ki shuruvaat kar di woh pura din bahar gaya kaam ke silsile mei. Maine dupher ko hi painkiller le li thi. Isliye raat tak normal ho gaya tha.

    Mai pure mood mai tha par agle din ki jagran aur aaj ki bhagdaud ke bajah se maa bahut thak gayi thi wo ander aayi mere samne maxi change kari aur bistar par aake sogyi.

    Maine maa ki gaand par hath rakha tab maa boli aaj nahi, bahut thaki hui hu, soja. Mera bhi lund dukh raha tha isliye main bhi chup chaap so gya. Aur maine bhi us chij ko apne dimag se nikala.

    Aur hua yuh ke 2-4 din kuch nahi hua. Kunki un dino mai maa ke aane se pehle hi so jaaya karta. Phir hamari dusri chudai bhi maa ne khud aage aake karayi. Woh kaise hua ye agli kahani mai batunga.

     
    Read more
  • Indian sex Story - Meri maa chudi kheto mein story In Hinglish

    Hi dosto, mera naam Rajesh hai. Main UP ka rehne wala hu. Meri umar 22 saal hai, aur mere lund ka size 6 inch hai. Height meri 5’6″ hai, aur rang mera saawla hai. Mere ghar mein main, meri mummy aur mere papa hai.

    Ye jo kahani hai, wo 6 saal pehle ki hai. Meri mummy aur papa mein aksar jhagde hote the. Wo dono bina wajah ek-doosre se ladte rehte the. Mummy papa se thoda time chaahti thi, lekin papa ko kaam se fursat hi nahi thi.

    Mere papa shehar mein naukri karte the. Aur main mummy ke sath gaon mein rehta tha. Papa hafte mein ek baar ghar aate the, aur us time mein bhi unka kaam khatam nahi hota tha.

    Hamari gaon mein thodi zameen bhi thi. Usko hamne contract par de rakha tha. Jisko hamne kheti ke liye zameen di thi, uska naam Mahinder singh tha. Mahinder singh ki apni zameen bhi thi, jo hamari zameen ke sath lagti thi.

    Wo ek 6 foot ka hatta-katta aadmi tha. Wo hame har 6 maheene baad paise dene aa jata tha. Is baar jab wo aaya tha, tab papa ghar par hi the. Jab wo aaya, to papa ne usko khaana offer kiya. Fir wo khaana khaane ke liye hamare sath baith gaya.

    Main dekh raha tha, ki mummy bahut khush thi Mahinder ke aane se. Fir maine wo dekha, jo aaj tak nahi dekha tha. Jab wo Mahinder ko khaana paros rahi thi, tabhi Mahinder ne meri maa ki gaand par hath fer diya.

    Mujhe laga maa usko kuch bolengi, lekin wo kuch nahi boli. Fir Mahinder chala gaya. Maa jab usko darwaze tak chodhne gayi, tab bhi dono ne hath milaya tha.

    Main samajh nahi paa raha tha, ki un dono ke beech kya chal raha tha. Fir ek din wo hua, jisse sab kuch clear ho gaya. Papa ghar se jaa chuke the. Aur ab main aur maa hi ghar par the.

    Raat ka waqt tha, aur main so raha tha. Tabhi mujhe darwaza khulne ki awaaz aayi, jisse meri neend khul gayi. Maine halke se apne room ka darwaza khola, aur baahar dekhne lag gaya.

    Maine dekha, ki mom gate par khadi thi, aur kisi se baat kar rahi thi. Gate ke baahar kon tha, wo mujhe dikhayi nahi de raha tha. Maa ne kuch der baat ki, aur fir mere room ki taraf badhi. Main jaldi se bhaag kar bed par let gaya, aur sone ka naatak karne laga.

    Maa ne mujhe sote hue dekh liya, aur baahar chali gayi. Fir main bhi jaldi se uth kar unke peeche chala gaya. Maa jab thodi door pahunch gayi, to main ghar se baahar nikal aaya. Wo kisi aadmi ke sath jaa rahi thi.

    Fir wo kheto ki taraf jaane lage. Main bhi unke peeche jaane laga. Wo dono kheto ke beech mein jaake ruk gaye. Fir mujhe us aadmi ka chehra dikhayi diya. Wo aadmi Mahinder singh hi tha.

    Usne kheto mein jaate hi maa ko gale se laga liya. Fir wo dono kiss karne lag gaye. Main ye dekh kar hairaan tha, ki maa aisa kaise kar sakti thi. Mahinder paaglo ki tarah meri maa ke honth choos raha tha, aur uski gardan chaat raha tha.

    Fir usne apne dono hath meri maa ki gaand par rakhe. Maa ka size 38″ 32″ 40″ tha. Ab maa ki gaand kitni badi thi, aur Mahinder ko kitna maza aana shuru ho gaya, ye to aap samajh hi sakte hai.

    Fir Mahinder ne maa ki saree khol di, aur ab maa sirf blouse aur petticoat mein thi. Kya zabardast lag rahi thi maa. Mera bhi unko dekh kar lund khada ho gaya tha.

    Fir Mahinder ne maa ke blouse mein muh daal liya, aur unki cleavage choomne lag gaya. Maa uske sir ko apni chhati mein daba rahi thi. Fir Mahinder ne maa ka blouse khol diya. Maa ne bra nahi pehni thi, to unke bade-bade boobs ab Mahinder ke saamne the.

    Boobs dekhte hi Mahinder maa ke boobs par toot pada. Wo paaglo ki tarah unke boobs choosne lag gaya. Maa kaamuk aahen bharne lagi, aur maze se Mahinder ki apni aagosh mein le liya.

    Fir usne maa ko neeche lita liya. Neeche patto ka ek dher tha, jo kaafi comfortable tha. Mahinder maa ki upper Body ko choom raha tha. Fir wo neeche aaya, aur usne maa ka petticoat utaar diya.

    Maa panty nahi pehanti thi, to ab maa poori nangi thi. Maa ki jaanghe itni sexy aur moti thi, ki kisi bhi mard ka lund khada ho jaye. Fir Mahinder maa ki jaangho ko chaatne laga. Maa ko poori tapish chadhi hui thi.

    Fir usne apna muh maa ki chut par lagaya, aur usko chaatna shuru kar diya. Maa Mahinder ke sir ko apni chut mein daba rahi thi, aur bol rahi thi-

    Maa: Ahhh zor se chaato. Bahut der se taras rahi hai ye. Kha jao aaj meri chut ko.

    Mahinder maa ki chut mein jeebh maar-maar ka uski chut ka maza le raha tha. Fir Mahinder ne apne kapde utaar diye. Ab Mahinder ka 9 inch lund maa ke saamne tha. Lund dekh kar maa ki aankhon mein chamak aa gayi.

    Maa ab Mahinder ko kaamuk nigaho se dekh rahi thi. Fir Mahinder maa ki jaangho ke beech aaya, aur usne apna lund maa ki chut par ragadna shuru kar diya. Maa ahha ahh ki awaaze kar rahi thi. Fir maa boli-

    Maa: Ab daal bhi do naa.

    Ye sunte hi Mahinder ne maa ki chut mein dhakka maara. Maa ki aah nikal gayi, aur Mahinder ka poora lund maa ki chut mein chala gaya.

    Maa boli: Ab rukna mat meri jaan. Aaj chod kar bhonsda bana de meri chut ka.

    Ye sunte hi Mahinder ne apna lund andar- baahar karna shuru kar diya. Maa ne apni taange Mahinder ki kamar par lapet li. Mahinder full speed mein maa ki chudai kar raha tha.

    Wo sath-sath maa ke boobs choos raha tha. Maa uski gaand ko apni taraf daba rahi thi, aur uska sir sehlaa rahi thi. 15 minute Mahinder usi position mein maa ko chodta raha. Is beech maa ek baar jhad chuki thi.

    Fir Mahinder ne maa ki chut se apna lund baahar nikala, aur usko ghodi bana liya. Uske baad usne ek hi jhatke mein lund maa ki chut mein daal diya. Maa ki aah nikli, aur Mahinder ne de dana dan maa ki chudai shuru kar di.

    20 minute wo aise hi maa ko chodta raha. Fir wo aahh ahh karte hue maa ki chut mein jhad gaya. Uske baad wo dono kuch der wahi lete rahe. Fir jaise hi maa kapde pehanne ke liye khadi hui, main waha se bhaag aaya.

    Us din ke baad maine bahut baar maa ko Mahinder se chudte hue dekha.

    Aap sab ko kahani ka maza aaya ho, to isko like aur comment zaroor kare.

    Read more
  • Indian OnlyFans Girls That Will Show You Real Pleasure

     

    When you were a teen, porn movies were the ultimate best way to relieve yourself in the late-night hours. But, over time, porn became kind of boring and scripted. You need something else, something better, and luckily for you, we’re here to help you with that. There is a pretty new, popular platform that allows girls to have fun and make some money.

     

    f you want them to share their kinky moments with you, all you have to do is subscribe to their profiles and see what proper adult fun is. It never gets boring, and you’ll see something totally different, free, and most importantly, unscripted. Those girls simply go with the flow and do as they please. In the following, check out these hot accounts on onlyfans naked and gorgeous for your eyes only!

     

    "Copyright: Pexels | CC0 Public Domain"

    Hot Indian OnlyFans babes

    Scarlett Rose 

    We’ll be hitting it off strong, and on top of our list is Scarlett. A hot, Indian babe that is here to fulfill every desire you have, even the ones that are buried deep within you. She’ll be taking you on a cumming spree, and she won’t stop until you’re completely drained. Her tanned, fit body is perfectly paired with a huge rack and a booty that will make you go nuts. Scarlet is into fitness, and you can find some of her hot booty workout on her OnlyFans, but you won’t be able to keep up with her pace.

     

    Did we mention that her OnlyFans profile is completely free of charge and offers you access to over 300 pics and 30 full-length videos? Scarlet is totally into sexting and replying to every single DM, and for a nice tip, you’ll be earning VIP access and raw, unedited videos shot by her phone. 

    Priya Babestation

    Now, this is an account worth your money and your time. The main reason for that is because you’ll be spoiled with not one, but multiple Indian girls that are willing to do anything for your pleasure. One main girl is in charge of the profile, and she’ll dominate your feed, but you’ll still get the opportunity to see her hot friends as well. Normally, the price is 6 bucks a month, which is a bargain, but right now, there is a discount of 3 bucks in the first month, so make sure you be there on time to smash the sub button. 

     

    Priya is the main girl that loves to dominate the scene. No matter if she’s solo, with her rich collection of toys on the shelf, or with her hot friends, she’ll definitely brighten your day, or give you pleasure during the night. While she provides new hot content for you, keep yourself occupied with her 10K existing pics and around 900 full-length videos. 

     

    "Copyright: Pexels | CC0 Public Domain"

    Amber Johal

    Amber is a 26-year-old Indian babe born and raised in the UK, so you get that tanned, fit body and that super hot British accent in one. Her main goal in life is to have fun and to satisfy every desire of yours. The subscription is totally free, and you get to enjoy her steamy pics and full-length videos without a price. But, if you want to show off your love and support, make sure you leave a nice decent tip that will surely make her day even better. Who knows, maybe she’ll show her gratitude by sending you an exclusive, unedited photo in your DMs.

     

    Right now, Amber’s profile has 70 pics and 7 videos, all being high-production and they’ll surely make you happy and stress-free. She loves showing off her slim figure paired with huge tits that make men all around drool, and a tight ass. Did we mention that she has a freaky, exhibitionist side to her?

    Marina Maya 

    We’ll finish it off the same way we started- strong and hard. We present to you Marina Maya, an Indian pornstar with tons of experience. She’s definitely confident in front of the camera, and sure knows her best angles, so whenever she feels like it, she simply poses and snaps. Her fans love that she posts regularly, and if she's in the mood, she’ll post up to several times a day. You can find some great solo action on her account, but she occasionally loves spoiling her fans with some girl-on-girl action, the usual couple session, or a hot groupie. 

     

    Normally, her account comes with a monthly fee of 15 bucks, but if you go right now and smash that subscribe button as soon as possible, you’ll get the chance to pay just under 10 bucks for a whole month worth of content. You’ll gain access to all of her existing content, which consists of 800 photos and 200 full-length videos. But, given the pace she works at, she’ll up to 1K posts, in a matter of days. One thing’s certain, Marina is the right chick for you, especially if you have some kinks and fetishes

     

     

     

     

     

     

     

    Read more
  • सास बहू की चुदाई में ननद की चूत का तड़का

    सास बहू की चुदाई में ननद की चूत का तड़का

    सास बहू फैमिली पोर्न कहानी मेरे घ में चुदाई और वासना के चल रहे नंगे खेल की है. मैं, मेरी सास, मेरी ननद तीनों खुल कर अलग अलग लंड का मजा लेती है.

    मेरे प्यारे दोस्तो, मैं हूँ रेहाना इस घर की बहू!
    मैं आपको अपने घर का नज़ारा दिखा रही हूँ इस काल्पनिक सास बहू फैमिली पोर्न कहानी में!

    यहाँ एक साफ़ सुथरा बड़ा सा कमरा है, लाइट जल रही है और एक टेबल पर रखा हुआ म्यूजिक बज रहा है।

    इस म्यूजिक पर यहाँ तीन मस्त जवान औरतें एकदम नंगी नंगी न्यूड डांस कर रही हैं।
    इनके बदन पर एक भी कपड़ा नहीं है, ऊपर से नीचे तक एकदम नंगा जिस्म है इन भोसड़ी वाली तीनों औरतों का!

    इनकी उछलती हुई बड़ी बड़ी चूचियाँ, इनकी मस्तानी चूत, इनकी मटकती हुई गांड, इनके ठुमके लगाते हुए सेक्सी कूल्हे … सब कुछ मुझे दिखाई पड़ रहा है।
    सिर के बालों के अलावा इनके बदन पर कहीं पर भी एक बाल नहीं है।
    मतलब इनकी झांटें बिल्कुल साफ़ हैं, सेक्सी आर्मपिट्स भी बड़े चिकने चिकने हैं।

    बीच में जो मस्तानी औरत मजे ले ले कर नंगी नाच रही है वह है इस घर की हरामजादी अय्याश सास, इसकी दाहिनी तरफ जो औरत एकदम नंगी नंगी इस नाच में ठुमके ठुमके लगा लगा कर सास का साथ दे रही है वह इस घर की हरामजादी बहू यानि मैं!

    और बाईं तरफ जो लड़की थिरकती हुई नंगी नंगी इन दोनों का साथ दे रही है वह है मेरी चूत चोदी ननद रानी, यानी सास की बदचलन बेटी।

    सास ने मुझे और अपनी बेटी दोनों को अपने रंग में ढाल रखा है और हम दोनों को भी अपनी ही तरह अय्याश बना डाला है।

    मेरी सास ने अपनी बेटी और बहू को अपनी दोस्त बना लिया है। इनसे अपनी सहेलियों की तरह ही हंसी मजाक करती है, लण्ड, बुर, चूत, भोसड़ा जैसी गन्दी गन्दी बातें करती हैं और दोनों के साथ बैठ कर खूब मजे से ब्लू फिल्म देखती है। ये सब एक दूसरी के नंगे बदन पर हाथ फेरती हैं.

    मैंने भी अपनी सास और ननद को अपनी दोस्त बना लिया है और ननद भी अपनी अम्मी जान से बहनचोद, मादरचोद कह कर बात करती है क्योंकि अब दोनों सहेलियां हैं माँ बेटी नहीं।
    ननद अपनी भाभी जान को तो पक्की सहेली मानती है।

    मेरी ननद भी शादीशुदा है। हम तीनों आपस में बड़े प्यार से खूब गाली गलौज भी करतीं हैं और खूब एन्जॉय करती हैं।

     

    एक दिन सास मुझसे कह रही थी- तेरी ननद चूत चोदी मेरा क्या उखाड़ लेगी। उसकी माँ का भोसड़ा!
    फिर ननद आई तो वह बोली- तेरी सास से मैं नहीं डरती। मैं तो नंगी नाचूंगी। तेरी सास की बिटिया की बुर!
    मैं दोनों की गालियां सुन कर खूब हंसी और एन्जॉय किया।

    फिर एक मुझे भी जोश आ गया तो बोली- तेरी माँ की चूत, चूत चोदी ननद रानी! मैं तो सबके आगे नंगी नाचूंगी।

    इतने में सास आ गयी तो मैंने कहा- तेरी बहन का लण्ड सासू जी, मैं भी अय्याशी करना जानती हूँ।

    सास अपनी बहू के मुंह से गालियां सुनकर गद गद हो गयी और उसे गले लगा लिया।
    मेरी सास ने कहा- मुझे जब मेरी बेटी बहू गालियां देतीं हैं और मैं उन्हें गालियां देती हूँ तो मुझे बड़ा मज़ा आता है।

    वो आगे बोली- जानती हो बहू क्यों! क्योंकि ये गालियां हमारे लिए टॉनिक का काम करती हैं। गालियों से मेरा जोश बढ़ता है, मेरी हिम्मत बढ़ती हैं और ताकत बढ़ती हैं। लड़कियां गालियां दे दे कर ही बोल्ड बनती हैं। गालियों से मन एकदम पुलकित और प्रफुल्लित जो जाता है। मैंने इसीलिए तुम दोनों चूत चोदियों को अपनी ही तरह अय्याश बना लिया है।

    आप तो जानते ही हैं दोस्तो कि मैं हूँ रेहाना इस घर की बहू!
    मैं ही इतनी देर से आपको इस घर की कहानी सुना रही थी।

    मेरी सास का नाम है रमजाना बेगम और मेरी ननद है शबाना।
    हम तीनों का नंगा नाच अभी आपने देखा। हम तीनों मिलकर खूब अय्याशियां करतीं हैं।

    डांस जब ख़त्म हुआ तो हम लोग नंगी नंगी बैठ कर थोड़ा पानी पीने लगीं।

    सास बोली- हाय मेरी रेहान बहू, तू तो बड़ा मस्त डांस करती है यार!
    मैंने कहा- अरे सासू जी, मैंने डांस तो बचपन में ही सीख लिया था। जवानी में मैं अकेली ही नंगी नंगी डांस घर में करती थी। मैं जिन लोगों के लण्ड पकड़ती थी उनके सामने भी न्यूड डांस करती थी!

    सास बोली- तो इसका मतलब तुम अपनी शादी के पहले भी लण्ड पकड़ चुकी हो! कितने लण्ड पकड़े तूने अपनी शादी के पहले रेहाना?
    मैंने कहा- गिना तो नहीं सासू जी लेकिन हां आठ दस लण्ड तो पकड़ ही चुकी थी मैं।

    सास ने कहा- तो इसका मतलब तुम शादी के पहले ही चुदी हुई थी।
    मैंने कहा- हां सासू जी, अब आपसे क्या छुपाना! मैं सच में अपनी शादी के पहले चुदी हुई थी।

    सासू ने मुझे गले लगाया और मुस्कराती हुई बोली- हाय मेरी बहू रानी … सच तो यह है कि मैं चुदी हुई बहू चाहती थी। मैंने सोचा था कि बहू चुदी हुई होगी तो अपनी सास का भोसड़ा भी चोदेगी और अपनी ननद की चूत में भी लण्ड पेलेगी। ऊपर वाले ने मेरी तमन्ना पूरी कर दी। एक राज़ की बात बताऊँ तुम्हें रेहाना बहू … मैं भी अपनी शादी के पहले खूब चुदी हुई थी और तेरी बुरचोदी ननद भी खूब चुदी हुई थी अपनी शादी के पहले। इसमें कोई बुराई नहीं है। चुदी हुई होना तो बड़े गर्व की बात है। मुझे तो शादी के पहले चुदी हुई होने का गुमान है।

    इतने में हम सब खूब खिलखिलाकर हंस पड़ी।

    मेरा ससुर और मेरा शौहर दोनों दुबई में काम करतें है। यहाँ साल में एक दो बार ही आ पाते हैं। इसी बीच हम लोग भी 1-2 बार दुबई चली जाती हैं।

    लेकिन इतने से तो काम नहीं चलता। लण्ड तो हमें रोज़ चाहिए।
    मेरी सास को भी लण्ड रोज़ चाहिए।

    हम लोग तो ग़ैर मर्दों के लण्ड के सहारे ही रहती हैं।

    मेरी ननद की शादी हालाँकि लोकल ही है पर उसका शौहर भी अपने धंधे के कारण अक्सर बाहर ही रहता है तो ननद को भी ग़ैर मर्दों के लण्ड का सहारा ही रहता है।
    इसलिए हम तीनों हमेशा नए नए लण्ड के जुगाड़ में रहती हैं।

    वैसे देखा जाए तो हमें लण्ड की कमी नहीं है। लण्ड तो हमारे घर खूब आते जाते हैं।
    पर हां … किसी किसी दिन ऐसा होता है कि एक भी लण्ड नहीं मिलता।

    आज शायद ऐसा ही दिन था।
    उस दिन हम दोनों सास बहू बैठी हुईं थी। मैं अंदर से बहुत चुदासी थी। मुझे लण्ड की बहुत याद आ रही थी।

    लण्ड मुझे कोई आस पास दिखाई नहीं पड़ रहा था तो मैंने अपनी सास से साफ़ साफ़ कहा- अरे सासूजी, कुछ लण्ड वण्ड का जुगाड़ है या नहीं बहनचोद? यहाँ चूत की आग ससुरी बढ़ती ही जा रही है।

    सास भी सोचने लगी कि हां आज तो अभी तक एक भी लण्ड नहीं मिला। सब के सब मरद मादरचोद गांड मराने चले गए हैं क्या अपनी अपनी!

    तभी अचानक किसी ने दरवाजा खटखटाया।
    सास ने उठ कर फ़ौरन दरवाजा खोला तो सामने वाला आदमी बोला- आदाब भाभी जान!

    मेरी सास ने उसे फ़ौरन अंदर बैठाया और बोली- भोसड़ी के अंजुम, तू इतनी दिनों से कहाँ था?
    उसने बताया- अरे भाभी जान, मैं सिंगापुर चला गया था। कल ही वापस आया हूँ. तो सोचा कि पहले रमजाना भाभीजान से मुलाक़ात करूंगा। इसलिए चला आया।

    मेरी सास ने मुझे उससे मिलवाया, बोली- ये है मेरी रेहाना बहू।
    वह बोला- माशा अल्लाह बड़ी हसीन है तेरी बहू भाभी जान! हुश्न तो इसके चेहरे से टपक रहा है।

    मेरी सास बोली- मुझे तो लगता है कि इसे देख कर तेरी लार टपक रही है।
    वह बोला- बात तो सही है भाभी जान … इतनी खूबसूरत बीवी बड़े नसीब वालों को ही मिलती है।

    तब सास ने मुझे बताया ये मेरा देवर है बहू रानी। पहले बहुत आता था मेरे पास! आज कई सालों बाद आया है।

    ये बातें हो ही रही थी कि एकाएक मेरा मामू जान आ गया।
    मेरी सास तो उसे अच्छी तरह जानती थी, वह बोली- अरे यार रज़ा, अच्छा हुआ तू आ गया। मैं तो तुझे याद ही कर रही थी।

    रज़ा अंजुम से मिलकर खुश हुआ।
    अब एक मस्त माहौल बनने लगा था … मैं तो अंदर ही अंदर खुश होने लगी।

    शादी के पहले मैंने मामू का लण्ड दो बार पकड़ा था और एक बार चुदवाया भी था.
    अब आज मेरा एक लण्ड तो पक्का हो गया।

    लगभग 9 बजे मेरी ननद शबाना भी आ गयी।
    वह भी अपने देवर के साथ आयी थी, मैंने उसके इस देवर को पहली बार देखा।
    ननद बोली- ये मेरा देवर असद है अम्मी जान!

    असद लगभग 22 / 23 साल का होगा पर था वह बड़ा स्मार्ट और हैंडसम।
    मेरे मन में आया कि इसका लण्ड तो एकदम नया ताज़ा होगा और बड़ा मज़ा देने वाला होगा। अगर ये आज रात में रुक गया तो मैं इसको नंगा जरूर कर दूँगी और फिर इसके लण्ड का पूरा लूंगी।
    मैंने जब सास की तरफ देखा तो मालूम हुआ कि वह तो पहले से ही असद के ऊपर नज़रे गड़ाए हुए बैठी है।

    रात को जब हम सब बिस्तर पर आ गए तो सारे मर्द हमको बड़ी हसरत भरी निगाहों से देखने लगे और हम तीनों मर्दों को ललचाई नज़रों से देखने लगीं।

    मेरा चचिया ससुर कुछ ज्यादा ही मेरे ऊपर मेहरबान था।
    मुझे देखते देखते उसने अपना हाथ मेरे हाथ पर रख दिया और बोला- बहू रानी तुम मुझे बहुत अच्छी लग रही हो। मेरा दिल तुम पर आ गया है।

    फिर उसने मेरे मम्मे दबा दिया और बड़े प्यार से बार बार दबाने लगा; मेरी चुम्मियाँ लेने लगा।
    मैं भी उसकी तरफ खिंचने लगी।

    मेरा भी हाथ उसके लण्ड तक पहुँच गया।
    जैसे ही मेरा हाथ उसके लण्ड से टकराया तो मेरे बदन में करंट लग गया।

    तब तक मैंने देखा कि मेरी सास ने असद को अपनी तरफ खींच कर अपने बदन से चिपका लिया, बोली- बेटा असद अपना लण्ड दिखाओ मुझे! मैं बड़ी बेताब हो रही हूँ तेरा तारो ताज़ा लण्ड देखने के लिए।

    उसने असद का पजामा खोला और हाथ अंदर घुसेड़ दिया।
    लण्ड उसका खड़ा था।

    सास ने लण्ड बाहर निकाला और ताबड़ तोड़ उसकी कई चुम्मियाँ लीं।
    लण्ड तो बहन चोद मस्त हो गया।

    तब तक इधर मैं भी अपने चचिया ससुर का लण्ड बाहर निकाल कर बड़े प्यार से हिलाने लगी। लण्ड मुठ्ठी में लेकर ऊपर नीचे आगे पीछे करने लगी।

    फिर मैंने उसका सुपारा चूमा, पेल्हड़ चूमें तो वह मस्ती से भर उठा।
    लड़की जब किसी लड़के का लण्ड चूमती है तो लड़के को बड़ा मज़ा आता है।

    अंजुम अंकल लण्ड साला बढ़ कर बहुत बड़ा हो गया।
    मैं बड़ी खुश हो हुई कि आज तो ये लण्ड मेरी चूत फाड़ डालेगा।

    मैंने फिर फटाफट अंकल के कपड़े उतार फेंके।
    वह एकदम नंगा हो गया और उसने मेरे कपड़े उतार डाले।
    हम दोनों बहू ससुर के नंगे बदन एक दूसरे से चिपक गए।

    मेरी आग और भड़क गयी।
    वह मेरे दूध बड़े प्यार से चूमने लगा मसलने लगा और मेरे निपल्स चूसने लगा।

    ऐसे में मैं मस्त होने लगी और इधर लण्ड मेरे मुंह में अपने आप घुस गया।
    मैं मस्ती से लण्ड चूसने लगी।

    तब मेरी नज़र सास पर पड़ी। वह भी भोसड़ी वाली बड़े मजे से असद का लण्ड चूसने में जुटी थी।
    असद बोला- आंटी, तुम तो बिल्कुल मेरी भाभी तरह लण्ड चूस रही हो!

    सास बोली- अच्छा तो तेरी भाभी बुरचोदी तेरा लण्ड चूसती है?
    वह बोला- हां खूब चूसती है। मुझे बड़ा मज़ा आता है।

    सास बोली- फिर तुम उसकी चूत भी चोदते होंगे?
    वह बोला- हां बिल्कुल चोदता हूँ। मुझे भाभी जान की चूत बहुत मस्त लगती है। वह बड़े मजे से चुदवाती भी है। मेरी खाला की बेटी ने उसी से चुदवाना सीखा है। मैं अपनी खाला की बेटी की भी चूत लेता हूँ।

    इतनी मस्त मस्त बातों से सास की चूत और गीली हो गयी। उसने खुद असद का लण्ड अपनी चूत पर टिकाया और बोली- अच्छा तो लो अब तुम अपनी भाभीजान की माँ का भोसड़ा चोदो, बेटा असद!
    असद तो चाहता ही था, उसने गच्च अपना लण्ड मेरी सास की चूत में पेल दिया।

    तब तक इधर उसके देवर अंजुम ने घुसा दिया लण्ड मेरी चूत में।
    अपनी सास के साथ साथ मैं भी धकाधक चुदने लगी।

    सास बोली- अंजुम, तुम्हें कैसी लग रही है मेरी बहू की चूत?
    वह बोला- माशाल्ला … बड़ी मस्त और जबरदस्त लग रही तेरी बहू की चूत भाभी जान! मुझे तो अपनी बहू की चूत से बेहतर लग रही है तेरी बहू की चूत। मन करता है कि इसे बस चोदता ही रहूं!

    हम दोनों सास बहू की चूत का बाजा बड़े मजे से बजने लगा।

    तभी एकदम से मेरा मामू आ गया।
    मैंने कहा- हाय दईया, तुम कहाँ चले गए थे मामू जान?
    वह बोला- अरे रेहाना, मुझे एक दोस्त मिल गया. उसी से बातें करने में देर हो गयी।

    तब तक मेरी ननद भी आ धमकी।
    उसने हम दोनों सास बहू को चुदते हुए देखा तो वह भी गर्म हो गयी, बोली- हाय दईया, तुम दोनों तो रंडियों की तरह चुदवा रही हो यार!
    मैंने कहा- तो फिर तू भी आ जा न! तेरी माँ चुद रही है। तेरी भाभी चुद रही है तो तू भी चुद ले!

    तब मैंने मामू जान को इशारा किया।
    वह तो अपने कपड़े खोल कर एकदम नंगा नंगा मेरी ननद के आगे खड़ा हो गया।

    मेरी ननद मामू का लण्ड देख कर ललचा गयी और बोली- बाप रे बाप, कितना मोटा है तेरे मामू जान का लण्ड रेहाना भाभी।

    मामू ननद के कपड़े उतार कर उसके बड़े बड़े दूध मसलने लगा।

    मैंने कहा- मामू जान, मेरी चूत भठ्ठी की तरह जल रही है, मेरी सास का भोसड़ा उबल रहा है तू अपना लण्ड पेल कर ननद की चूत का तड़का लगा दे जल्दी से।
    मामू ने गच्च से पेल दिया ननद की चूत में!

    गर्म गर्म लण्ड जब गर्म गर्म चूत में घुसा तो ननद की गांड उछलने लगी, उसकी चूत घपाघप चुदने लगी।

    मामू बोला- देख रेहाना, मैंने तेरी ननद की चूत में तड़का लगा दिया है! अब देखो न तड़के की महक से लबालब हो गयी है तेरी ननद की चूत।
    मैंने कहा- हां यार, उसकी चूत की खुशबू मुझे भी आ रही है।

    इस तरह हम तीनो की चुदाई झमाझम होने लगी।
    मैं मस्ती में बोलने लगी- हाय मेरे ससुर जी, लौड़ा पूरा घुसाओ मेरी चूत में, मुझे अपनी बीवी की तरह चोदो, अपनी बहू की चोदो, अपनी रखैल की चोदो, पूरा लौड़ा पेल पेल कर चोदो। मुझे बड़ा मज़ा आ रहा है। तेरा लण्ड भोसड़ी का बड़ा मज़ा दे रहा है।

    उधर मेरी सास बोली- हाय असद, तेरा लण्ड साला बड़े मजेदार है। मेरी चूत फटी जा रही है यार! तू मादरचोद मेरी बिटिया की चूत चोदता है। अपनी खाला की बेटी चोदता है … कभी तूने अपनी माँ का भोसड़ा चोदा है तूने?
    वह बोला- अपनी माँ का नहीं अपने दोस्त की माँ का भोसड़ा चोदा है।

    मेरी ननद बोली- हाय मेरी भाभी, तेरा मामू आज मेरी चूत फाड़ डालेगा। इस तरह तो मुझे मेरे शौहर ने भी नहीं चोदा। इसका लौड़ा बड़ा बेरहम है बहनचोद। मेरी चूत फटी जा रही है यार।

    पूरा घर चुदाई की आवाज़ से गूंज रहा था, चुदाई की महक से महक रहा था।

    इसी बीच सास ने असद का लण्ड मेरी चूत में पेल दिया और अंजुम का लण्ड अपनी बेटी यानि मेरी ननद की चूत में पेल दिया.
    फिर बोली- मैं जब तक चुदाई में अपनी बेटी बहू की चूत में लण्ड अपने हाथ से पेल नहीं लेती तब तक मुझे मज़ा नहीं आता। मैं जब ननद और भौजाई की चूत एक साथ चुदती हुई देखती हूँ तो मेरा मन बाग़ बाग़ हो जाता है।

    ऐसे में मेरा मामू मेरी सास का भोसड़ा चोदने लगा।

    कुछ देर बाद मैंने सास की चूत में अंजुम का लण्ड पेल दिया और ननद की चूत में असद का लण्ड घुसा दिया।

    मैंने भी कहा- सासू जी, मैं भी जब तक अपनी सास की चूत में और ननद की चूत में लण्ड पेल नहीं देती तब तक मुझे चैन नहीं मिलता।

    इस तरह चुदाई अपनी चरम सीमा तक पहुँच गयी।

    एक एक करके हम तीनों की चूत खलास होने लगी और उन लोगों के लण्ड भी झड़ने लगे।
    फिर हम सबने मिलकर तीनों झड़ते हुए लण्ड चाटे और मज़ा लिया।

     

     

    Read more
  • मेरी अम्मी की पराये मर्द से चुद गयी

    मेरी अम्मी की पराये मर्द से चुद गयी

    देसी भाभी Xxx कहानी में पढ़ें कि मेरी अम्मी ने किरायेदार अंकल को इतना गर्म किया कि वे मेरी अम्मी की चुदाई करने आ गए। मैंने अम्मी की चुदाई देखी.

    मैं अपनी अम्मी की चुदाई की कहानी आपको बता रहा था।
    कहानी के तीसरे भाग
    मेरी अम्मी ने अंकल को जिस्म दिखाया
    में आपने देखा कि अम्मी का मन अंकल से चुदने का था लेकिन वो सीधे तरीके से नहीं बोलकर अंकल को उकसा रही थी।

    अंकल फिर चूचियों की मसाज का तरीका बताने की बात करने लगे तो अम्मी मुझे देखने आई और देखकर चली गई कि मैं सो रहा हूं।

    अब आगे देसी भाभी Xxx कहानी:

    वापस आकर अम्मी ने अंकल से कहा- असगर तो सो गया है।
    अंकल बोले- ठीक है भाभी, तो तुम अपनी ब्रा-पैंटी, ब्लाउज और पेटीकोट पहन लो। मैं तुम्हें बताऊंगा कि मसाज कैसे करनी है।
    अम्मी बोली- ठीक है, लेकिन इतने मोटे और लम्बे लंड से मेरी चुदाई मत करना। वरना फिर असगर के अब्बू की बजाय रोज तुम्हारे लंड से ही चुदवाने का मन करेगा।

    अंकल बोले- क्यों?
    अम्मी बोली- क्योंकि तुम्हारा लंड ज्यादा मोटा है और चुदने के बाद इससे चूत खुल जाएगा। फिर असगर के अब्बू का लंड मुझे चूत में टाइट नहीं लगेगा। और जब तक चूत में फंसकर लंड नहीं जाए तो मजा नहीं आता है चुदने में! अगर तुम्हें चुदाई करनी है तो फिर एक वादा करके चोदना।

    अंकल बोले- क्या भाभी?
    अम्मी बोली- अगर तुमने आज मेरी चुदाई की तो फिर रोज तुम ही करोगे। मैं पूरी रात चुदती हूं और मस्ती में चुदती हूं। फिर तुम भी मुझे चोदे बिना नहीं रह पाओगे।
    अंकल बोले- ठीक है मेरी जान!

    अम्मी बोली- अच्छा! अभी से जान मान लिया? मैंने बेडरूम का दरवाजा खोल लिया है। तुम आराम से आना। असगर को पता न चले कि कोई मेरे रूम में आया है।

    मैं जान गया कि आज पूरी रात अम्मी चुदने वाली है।
    मुझे समझ में आया कि वास्तव में औरत के लिए लन्ड कितना जरूरी है। चाहे वो कितना भी मोटा और लंबा क्यों न हो, उसका मन है तो ले लेगी।

    अब मैं भी उत्सुक था। मैं देखना चाहता था कि अम्मी किस तरह से अंकल का स्वागत करती है।

    मैंने देखा कि वो कागज पर कुछ लिख रही थी।
    फिर वो कागज अम्मी ने वहीं बेड पर रख दिया।

    वास्तव में मर्द को तड़पा तड़पा कर चुदवाना तो कोई अम्मी से सीखे।
    मुझे नहीं मालूम था कि अम्मी इतनी कामुक है और अंकल के लन्ड के लिए इतनी बेचैन है क्योंकि मैंने देखा कि अम्मी बेड पर पूरी नंगी होकर दूधों के नीचे तकिया लगाकर दरवाज़े की तरफ अपनी एक टांग सीधी करके और एक घुटने से मोड़ कर लेटी थी। दूसरा तकिया अम्मी ने पेट के नीचे लगा रखा था ताकि दरवाज़े में घुसते ही अम्मी की चूत अंकल को पूरी दिखे।

    चूत में अम्मी ने आधा केला डाल लिया था और काले रंग की ब्रा-पैंटी आदि सब बिस्तर पर खोल कर रख दिये थे।

    अंकल के कहने के उलट अम्मी ने अपना काले रंग का पेटीकोट फर्श पर फेंक दिया था और आंखें बंद करके बिस्तर पर लेट गयी थी।

    तभी अंकल के आने की आवाज़ सुनाई दी तो मैं साइड में छुप गया।

    अंकल आये और दरवाज़ा खोलकर जैसे ही घुसे, अम्मी का ये रूप देख कर भौंचक्के रह गए।
    उन्होंने तुरंत अपनी पैंट खोली और अंडरवियर समेत उतार दी।

    उनका लंड देखकर मैं तो डर गया।
    काला, लम्बा और मूसल जैसा मोटा लंड था।

    मैंने मन ही मन कहा कि अम्मी रहने दो … फाड़ कर रख देंगे तुम्हारी चूत को … क्योंकि अम्मी ने भी अभी तक फ़ोटो में ही लंड को देखा था। अपनी आंखों के सामने नहीं देखा था।

    मैं इतना समझ गया था कि आज अम्मी की चूत ही नहीं गांड की भी चुदाई होने वाली है।
    अंकल तो वैसे भी मेरी अम्मी की गांड के दीवाने थे।

    मुझे अम्मी पर तरस भी आ रहा था कि आज अम्मी की जिस हिसाब से चुदाई होने वाली है, अंकल आज अम्मी की गांड फाड़ देंगे।

    तभी अंकल ने झुक कर अम्मी की जांघों के बीच मुंह दे दिया और केले को मुंह में पकड़ कर बाहर खींच लिया।
    अम्मी ने देखा तो वो एकदम से पलटी, फिर पीठ के बल हुई तो अंकल ने अम्मी को दोनों जांघों से बेड के सिरहाने की तरफ खींच लिया।

    अम्मी की मोटी, मांसल गांड को बिस्तर के किनारे पर टिका कर वो फर्श पर पंजों के बल बैठ गए और अम्मी की दोनों टांगें अपने कंधों पर रख लीं।

    अम्मी ने भी हंसते हुए दोनों पैर अंकल की पीठ पर लटका दिए।

    फिर अंकल ने जैसे ही अपना पूरा मुंह खोलकर अम्मी की पूरी फूली हुई चूत को मुंह में भरकर चूसा तो अम्मी के मुंह से बहुत तेज सिसकारी निकल गई- हाए रे … स्स्स!

    एकदम से अम्मी की गांड बेड से उठने लगी और अंकल के मुंह की तरफ धकेलने लगी।
    अंकल अम्मी की चूत चूसकर उसको इतना गर्म कर रहे थे कि लंड का साइज देखकर भी अम्मी मना न करे।

    फिर थोड़ी देर बाद अम्मी ने एक हाथ से अंकल का सिर चूत में दबा दिया और चूत चुसवाने का आनंद लेने लगी।

    तभी अंकल ने बीच वाली उंगली अम्मी की गांड में डाल दी और उंगली को अंदर बाहर करते हुए खूब चपड़ चपड़ करते हुए चूत चुसवाने लगे।
    बीच बीच में अम्मी की चूत के होंठों पर हल्के हल्के काट काटते हुए उसके भग्नासा को चूसने लगे।

    फिर कुछ देर बाद उठे तो अम्मी उठकर बैठी और कागज़ हाथ में उठाकर अंकल के गले में हाथ डाल कर अंकल के गालों पर चुम्बन कर लिया।

    फिर उसने कागज़ हाथ में थमाया और सीधे अंकल का लन्ड मुंह में भरकर चूसने लगी।
    मैं हैरान था कि अंकल का इतना लंबा मोटा लन्ड देखकर भी अम्मी ने कुछ नहीं कहा?
    तो क्या अम्मी पहले भी किसी ऐसे ही मर्द का लंड ले चुकी थी?

    अंकल ने कागज़ में लिखा हुआ पढ़ा और फिर मोड़ कर कागज को कोने में फेंक दिया।
    फिर अम्मी ने मुंह से लंड को निकाल दिया और अंकल की गोद में बैठकर वो उनके होंठ चूसने लगी।
    अम्मी इस दौरान लगातार अंकल के लंड को सहलाती रही।

    अंकल बोले- मेरी जान … पढ़ लिया कागज़ … अब देख … तेरी आज कैसे मां चोदता हूं। साली कुतिया … बहुत आग है ना तेरी चूत में … तेरी बहन चोद दूंगा आज … तेरी चूत और गांड को चोद चोदकर कुंआ बना दूंगा। अब असगर के अब्बू जब चुदाई करेंगे तो तू बोलेगी कि नहीं अपने आशिक के लंड से चुदूंगी … साली कुतिया … चल मेरी कुतिया बन जा!

    अम्मी हंसती जा रही थी और बोली- हाय … भाईसाहब … सच में गालियां सुनने के बाद तो और ज्यादा मन हो रहा है चुदने का … मुझे गालियां दे देकर ही चोदना।

    फिर सिसकारते हुए बोली- उफ्फ … अब डाल दो … बर्दाश्त नहीं हो रहा है। तुम्हारा लंड लेकर देखूंगी कि इतने बड़े लंड से चुदाई करवाने में कैसा मजा आता है।

    दोस्तो, अम्मी को इतना खुलकर … बेशर्मी से बोलते और चुदते पहले कभी नहीं देखा था मैंने!
    मेरे भी होश उड़ गए थे।
    मैं समझ गया कि अम्मी की चूत में वास्तव में बहुत आग है, तभी अब्बू से भी खूब चुदवाती है मगर इतनी बेशर्मी के साथ नहीं!

    अंकल से चुदवाने को अब मैं भी गलत नहीं मां रहा था क्योंकि लॉकडाउन में अम्मी की चूत प्यासी हो गई थी।
    चुदवाना उनकी मजबूरी थी।

    वैसे भी सब कुछ दोनों की मर्जी से हो रहा था।

    मैं ये सब सोच ही रहा था कि तभी अंकल ने अम्मी को नीचे लेटा कर एक हाथ कमर में डाल कर दूसरा हाथ गर्दन के नीचे ले जाकर पकड़ लिया।

    अम्मी ने भी अपनी टांगों से अंकल की कमर पर लपेट कर दबोच लिया।
    फिर अंकल अपना लन्ड अम्मी की चूत के ऊपर रगड़ने लगे।

    इससे अम्मी की सिसकारी निकल गई- हाय … बस अब तो अंदर डाल दो … लंड की गर्मी से मेरी चूत बुरी तरह से चुदासी हो गई है।

    अंकल फिर बोले- साली कुतिया … मादरचोद … बड़ी जल्दी हो रही है लन्ड लेने की। पूरी रात चोदूंगा तेरी चूत को साली। तेरी ये मोटी गांड तो इतनी चोदूंगा कि पूरे दिन तेरी गांड में मीठा दर्द होता रहेगा; टांगें फैला फैलाकर चलेगी तू! बेटा भी पूछे तो बोलना- बेटे … कल तेरे अंकल ने पूरी रात तेरी अम्मी को खूब मस्त चोदा है और मैंने भी खूब मन से चुदाई करवाई है तो वही मीठा दर्द हो रहा है।

    ये सुनकर अम्मी बड़ी जोर से हँसकर बोली- अच्छा बाबा … बोल दूँगी कि अब अंकल भी कल तेरे नए अब्बू बने हैं, अब तेरे दो अब्बू हैं तो तेरी अम्मी की अब खूब चुदाई होगी और नए अब्बू को तेरी अम्मी की गांड बहुत पसंद है, तो अब गांड भी मरवानी पड़ेगी मुझको!

    तभी अम्मी बड़ी जोर से बोली- हाये मर गयी!
    मैंने देखा तो अंकल ने पूरा लन्ड एक ही झटके में अम्मी की चूत में उतार दिया था। अम्मी बेहाल सी हो गई थी।

    अंकल बार बार लंड को पूरा बाहर निकाल कर पूरा अंदर डालने की कोशिश कर रहे थे।
    जितनी बार लन्ड निकालते तो बोलते- मेरी जान … लव यू … और जब लन्ड पेलते तो बोलते- साली कुतिया … मादरचोद!

    अम्मी भी थोड़ी देर के बाद गांड उछाल उछालकर के लन्ड लेते हुए चिल्लाने लगी- हए … और चोदो … बहुत मज़ा आ रहा है … हाय रे … भाईसाब इतने दिन से रह रहे हो … अभी तक क्यों नहीं चोदा था मुझे … हए … पूरी जिंदगी यहीं रहो … मरते दम तक चोदो मुझे … अब तुम्हारे लन्ड के बिना जीना मुश्किल है। दो चार बच्चे और पैदा कर दो अपने लन्ड से।

    अंकल भी खूब चोदते जा रहे थे।
    थोड़ी देर बाद अम्मी बोली- आह आह … आह आह … आई आई … हाये हए … मैं झड़ी … मैं झड़ी … आहह मैं झड़ी!

    अंकल बोले- हाय मेरी भाभी जान … मेरी जान … लव यू मेरी जान … आह आह … निकल रहा है मेरा … क्या गर्म चूत है तेरी … झड़ रहा है मेरा!
    अम्मी बोली- मैं भी भाईसाब … पूरा रस पिला दो मेरी चूत को … आह आह झड़ गयी … मैं तो झड़ गयी … उफ़्फ़फ़ क्या गज़ब की चुदाई करते हो यार!

    इस तरह से वो दोनों झड़ गए।
    फिर दो राउंड और लिए और एक बार गांड भी मारी अम्मी की।

    सुबह मैं जब उठा तो देखा कि अम्मी पैर खोलकर चल रही थी और साड़ी के ऊपर से गांड के छेद को सहला रही थी बार बार!

    मैंने पूछा- क्या हुआ अम्मी? पैर में चोट लगी है?
    वो बोली- हां … थोड़ा नई चप्पल है तो पैर में काट रही है।

    मैंने देखा कि किचन में चाय बनाते हुए अम्मी मुस्करा रही थी।

    मैं समझ गया पूरी रात खूब अच्छे से चुदाई हुई इसलिए काफी खुश है।
    फिर मैं अम्मी के कमरे में गया देखने कि उस कागज़ में क्या लिख कर दिया अम्मी ने अंकल को!

    जब पढ़ा तो पहले तो होश उड़ गए क्योंकि अम्मी ने कागज़ में लिखा था- भाईसाब … मेरी जान … जब से तुम्हारी बीवी ने बताया कि तुम्हारा लन्ड 9 इंच लंबा और 2.5 इंच मोटा है, तब से रोज़ यही सोचती थी कि किसी तरह से तुम मेरी चुदाई कर दो। मगर संकोच की वजह से पहल नहीं कर पा रही थी कि तुम क्या सोचोगे … फिर जब तुमने पहल की तो मैंने भी सोच लिया कि अब अपनी चूत को तुम्हारे लन्ड के हवाले कर दूंगी। सो, अब भरपूर चुदाई करो मेरी … मैं खूब अच्छे से न सिर्फ चुदूँगी … बल्कि लन्ड भी चूसूंगी … गांड भी मरवा लूंगी।

    मैंने सोचा काश … मैं अंकल होता तो अम्मी की गर्म चूत की पूरी जिंदगी चुदाई करता।
    अब पहले जहां अम्मी हफ्ते में 3 दिन सिर्फ अब्बू से चुदती थी अब अम्मी पूरे एक दिन अंकल से चुदती है।
    फिर एक दिन का अंतर देकर फिर अब्बू से!

    उसके बाद फिर एक दिन के बाद फिर एक दिन अंकल से और फिर एक दिन अब्बू से।

    इस तरह से अब्बू के भी लन्ड की प्यास बुझ रही है और अंकल के लंड की भी और अम्मी को भी खूब मजा आ रहा है।
    अब अम्मी भी खूब खुश रहती है क्योंकि जितना लन्ड उसको चाहिए उतना मिल रहा है अब!

    तो दोस्तो, ये थी मेरी अम्मी की चुदाई की कहानी।
    अम्मी की चुदाई का ये सिलसिला अब शायद उम्र भर चलता रहेगा।
    मैं आगे भी आपको अपनी अम्मी की गर्म चूत की कहानियां बताता रहूंगा।

    Read more
  • डॉक्टर से अपनी बीवी की चूत चुदवा दी

    डॉक्टर सेक्स कहानी मेरी बीवी की चूत चुदाई की है. उसके स्तन में गांड का इलाज कराने हम डॉक्टर के पास गए तो डॉक्टर ने मेरी बीवी की चूचियां दबाकर देखी.

    मेरा नाम सन्दीप है, मैं रांची झारखंड से हूं. मेरी उम्र 35 वर्ष है.
    मैं प्राइवेट कंपनी में काम करता हूँ.

    मेरी पत्नी का नाम सोनी है, उसकी उम्र 30 वर्ष है.

    हमारी शादी को 6 वर्ष हो गए हैं. हमारा एक बेटा भी है, जो अभी 4 साल का है.

    मैं आपको अपनी पत्नी के बारे में बता दूँ!
    वो बहुत गोरी और सेक्सी है. उसकी साइज़ 34-30-36 की है. मुझे अपनी पत्नी का जिस्म और दूसरों को दिखलाने में बहुत मजा आता है.

    मेरा पूरा परिवार गांव में रहता है.
    मैं अपनी बीवी और चार साल के बेटे के साथ एक किराए के मकान में रहता हूँ.

    मेरी बीवी घर पर अक्सर नाइटी पहनती है जिससे उसकी गांड और दूध मस्त हिलते हैं.

    हम लोग गर्मियों के दिन में छत पर सोते हैं.
    चूँकि हम लोग किराए के मकान में रहते हैं तो उधर और भी किराएदार रहते हैं.

    जब हम लोग छत पर सोते हैं तो मैं सुबह सुबह अपनी पत्नी की नाइटी ऊपर कर देता था, जिससे उसकी गांड कोई ना कोई देख सके.

    कई बार तो सुबह में मेरी बीवी सीधी सोती है तो मैं उसकी नाइटी पेट तक उठा देता हूं.
    वो सोते समय पैंटी नहीं पहनती है जिससे उसकी नंगी चूत को कई दूसरे किराएदारों ने भी देखा है.

    उसे भी इस सब में मजा आता था.

    ये बात आज से एक वर्ष पहले की है. मेरी पत्नी के स्तन में गांठ हो गई थी जिसे चैक करवाने के लिए मैं एक होमियोपैथी के डॉक्टर के पास गया.

    वो डॉक्टर करीब 50 साल का रहा होगा.
    उसने मेरी पत्नी को देखा और खुश हो गया.
    चूंकि मेरी पत्नी देखने में माल लगती है तो उसे देख कर किसी का भी लंड खड़ा हो जाता है.

    मेरी पत्नी ने डॉक्टर को पूरी बात बताई तो डॉक्टर ने उससे अपने मम्मे दिखाने को कहा.

    मेरी बीवी ने मेरी तरफ देखा तो मैंने आंख के इशारे से उसे हामी भर दी.

    फिर डॉक्टर और मेरी पत्नी साईड में पर्दा लगे एक केबिन में गए.

    डॉक्टर ने उससे ब्लाउज खोलने को कहा. मैं भी वहीं पर्दा के पास खड़ा था. मेरी पत्नी ने साड़ी को हटाया, जिससे ब्लाउज के ऊपर से उसके दोनों बूब्स दिखने लगे.

    डॉक्टर मेरी बीवी के तने हुए मम्मे देखने लगा.
    फिर उसने मेरी बीवी से कहा कि अपने हाथ से बताओ कि किधर गांठ है.
    मेरी बीवी ने अपने एक चुचे को एक जगह से दबाकर उसे बताया कि इधर गांठ है.

    डॉक्टर ने अपने हाथ से मेरी बीवी के मम्मे की गांठ वाली जगह पर उंगली से दबाकर देखा तो मेरी बीवी की हल्की सी आह निकल गई.

    मैं अपनी आंखों से एक गैर मर्द के हाथ से अपनी बीवी के दूध दबाकर देखते हुए मस्त होने लगा.

    फिर डॉक्टर ने उससे ब्लाउज खोलने के लिए कहा तो मेरी पैंट में सनसनी होने लगी.
    शायद ये मेरी फंतासी थी जो आज मेरे सामने हो रही थी.
    मुझे बड़ा अच्छा लग रहा था.

    मेरी बीवी ने मेरी तरफ देखा तो मैंने सर हिलाकर उससे ब्लाउज खोलने का इशारा कर दिया.
    वो अपने ब्लाउज के एक एक करके हुक खोलने लगी.
    अब वो ऊपर से सिर्फ ब्रा में थी.

    डॉक्टर ने उससे ब्रा भी खोलने को कहा.
    मेरी पत्नी कुछ शर्मा रही थी क्योंकि वो पहली बार किसी अन्य पुरुष के सामने वो इस प्रकार से थी.

    मैंने उससे कहा- अरे शर्माओ मत, जब तक डॉक्टर को दिखाओगी नहीं, तब तक इलाज कैसे होगा.

    ये सुनकर उसने अपनी ब्रा खोलकर एक तरफ रख दी और दोनों हाथों से अपनी चूचियों को छुपाने लगी.

    मैं उससे कहा- डॉक्टर से शर्म कैसी, दिखा दो न!
    डॉक्टर भी बोलने लगा- हां दिखाओ, नहीं तो इलाज कैसे होगा?

    फिर मेरी पत्नी ने दोनों हाथ हटा लिए जिससे उसके दोनों बूब्स उछल कर डॉक्टर के सामने आ गए.

    डॉक्टर सामने से मेरी पत्नी क़े दूध छूकर चैक करने लगा.
    वो एक मम्मे की गांठ वाली जगह दबा दबा देखने लगा.
    फिर उसने दूसरे मम्मे को भी उसी जगह दबा कर चैक किया.

    इतनी देर में मेरी बीवी भी अपनी शर्म छोड़ चुकी थी.
    मुझे भी ये देखकर मजा आने लगा था.

    डॉक्टर ने दोनों हाथों से मेरी बीवी के दूध को दाब दाब कर गांठ देखना शुरू कर दिया था.
    मेरी बीवी भी उसे बता रही थी कि इसमें इधर दर्द होता है, इधर नहीं होता है.

    डॉक्टर बारी बारी से दोनों मम्मे दबाते हुए देख रहा था.

    मैंने भी महसूस किया कि इस सीन से मेरा लंड भी खड़ा हो गया था.

    डॉक्टर ने बहुत देर तक मेरी बीवी के मम्मों को हर तरह से दबा कर जांचा.
    फ़िर वो ऐसे ही बात करने लगा कि ये ठीक हो जाएगा.

    मेरी बीवी अभी भी ऊपर से पूरी नंगी थी.

    फिर डॉक्टर ने उससे पूछा- महीना ठीक से होता है?
    वो बोली- हां होता हैं, पर सेक्स करते समय नीचे जलन होती है.

    डॉक्टर ने मुस्कुरा कर कहा- नीचे कहां?
    मेरी पत्नी ने शर्मा कर कहा- उधर चूत में.

    डॉक्टर ने चुत शब्द सुना तो एकदम से बोला- ये गड़बड़ बात है … उधर तो जलन नहीं होनी चाहिए. इसे तुरंत जांचना होगा.

    मेरी पत्नी ने मेरी तरफ देखा तो मैंने भी उसे दो उंगलियों से छेद बनाकर इशारा कर दिया कि चुत भी दिखा दो.
    उसने मेरी तरफ गुस्सा से देखा.
    मगर उसके पास कोई चारा नहीं था.

    वो बगल में रखी टेबल पर बैठ गई.
    डॉक्टर ने साड़ी और पेटीकोट हटाने को कहा.

    मेरी पत्नी शर्माती हुई अपनी साड़ी और पेटीकोट खोलने लगी.
    डॉक्टर भी उसे ही देख रहा था.

    मेरी बीवी ऊपर से तो नंगी थी ही अब नीचे से भी नंगी होने जा रही थी.

    इधर लंड मेरी पैंट फाड़ कर जैसे बाहर आने को बेताब हो गया था.

    मैंने ध्यान दिया कि डॉक्टर ने भी अपना लंड एक दो बार मसल दिया था जो मेरी बीवी ने भी नोटिस किया था.

    मेरी पत्नी आते समय अपनी पैंटी पहनना भूल गई थी.
    साड़ी पेटीकोट के हटते ही वो हम दोनों के सामने पूरी तरह नंगी हो गई थी.

    उसे जैसे ही ख्याल आया कि उसने पैंटी नहीं पहनी है, वो झट से अपनी चूत को छुपाने लगी.

    डॉक्टर ने उसे लेटने को कहा और पैरों को मोड़ कर फैलाने को कहा.

    अब तक वो भी अपनी शर्म छोड़ चुकी थी.

    मेरी पत्नी के चूत में छोटे छोटे बाल थे, कुछ दिन पहले मैंने ही अपनी पत्नी के चूत के बाल साफ किए थे.

    मेरी बीवी पूरी नंगी टेबल पर लेटी हुई थी.
    अब डॉक्टर मेरी बीवी के पास जाकर पहले तो चूत देखता रहा. मेरी बीवी की चूत बहुत गोरी है.

    फिर वो मेरी बीवी की चूत की फांकों को अपने हाथ से फैला फैला कर देखने लगा.
    वो कभी कभी चूत को मसल भी देता था जिससे मेरी पत्नी के मुँह से एक सेक्सी आवाज भी निकल जा रही थी.

    कुछ देर बाद मेरी पत्नी ने अपने पैर पूरी तरह से अलग करके डॉक्टर के सामने चूत फैला दी थी.
    वो चुत खोले हुए मेरी ओर देख रही थी.

    मैंने भी आंख मारते हुए उसे एक मुस्कान दे दी. मैंने देखा कि उसके चेहरे पर भी एक हल्की सी मुस्कान आ गई थी.

    मुझे ऐसा महसूस होने लगा था कि औरत को अपने पति की रजामंदी मिल जाए तो वो किसी के सामने भी अपनी चुत खोलने को राजी हो सकती है.

    डॉक्टर ने अब अपनी एक उंगली को मेरी पत्नी के चूत में घुसा दी और चुत चैक करने लगा था.

    इससे मेरी पत्नी को अब मजा आने लगा था और उसकी चुत ने हल्का हल्का सा रस छोड़ना शुरू कर दिया था.

    चुत से रस रिसना किसी को भी ये बताने के लिए काफी होता है कि चुत गर्म होने लगी है और चुत वाली को मजा आ रहा है.

    डॉक्टर बहुत देर तक मेरी पत्नी की चूत को उंगली से ऐसे चैक करता रहा, जैसे कि वो चुत चोद रहा हो.
    शायद डॉक्टर को अब चूत छोड़ने का मन ही नहीं था.

    मैं तो ये देखकर दंग था कि मेरी पत्नी इस वक्त मुझे और भी ज्यादा सेक्सी लग रही थी.
    वो अपनी आंखें बंद करके डॉक्टर की उंगली को अपनी चुत में लेकर मजा ले रही थी.

    फिर डॉक्टर ने अपनी उंगली चुत से निकाली और मेरी बीवी से कपड़े पहन कर बाहर आने को कहा.

    मैंने देखा कि डॉक्टर का लंड पैंट के ऊपर से पूरा खड़ा हो गया था.
    इधर मेरा भी लंड पूरा खड़ा था.

    डॉक्टर मुस्कुराते हुए अपने कुर्सी पर बैठ गया.
    मेरी पत्नी अपने कपड़े पहन कर वापस डॉक्टर के पास आ गई.

    डॉक्टर ने दवा दी और मुझसे कहा कि सेक्स करने से पहले अपनी पत्नी को पूरा गर्म किया करो, जिससे उसकी चूत पूरी गीली हो जाए, तभी अपना लंड चूत में डाला करो, इससे जलन नहीं होगी. तुम शायद सूखी चुत में लंड पेल देते हो, जिससे इसको जलन होती है.

    उसने मेरी बीवी को एक सप्ताह की दवा दी और एक सप्ताह बाद आने का बोला, वो फिर से चैक करके देखेगा.

    मैं अपनी बीवी को घर आने लगा.
    आते समय मैं अपनी बीवी को छेड़ रहा था कि तुम्हारी चुत तो रस निकालने लगी थी.

    वो शर्माने लगी और बोली- साले ने गर्म करके छोड़ दिया है. मेरी चुत में आग लगी है. घर चल कर मुझे शांत करो.

    मैंने घर आते ही बीवी को पूरी नंगी करके चोदना शुरू कर दिया.
    चुदाई के समय मैं डॉक्टर को याद करके उसे चोदता रहा.

    इस तरह से एक हफ्ता बीत गया.

    मैंने सोनी से कहा- डॉक्टर ने एक सप्ताह बाद आने को कहा था.
    सोनी हंस कर बोली- मुझे लगता है कि वो फिर से नंगी करके चैक करेगा.

    मैंने हंस कर कहा- हां, अबकी बार वो डॉक्टर तुमको चोद भी देगा.
    वो बोली- हां वो तो आप साथ में थे, नहीं तो वो पहली बार में ही मुझे चोद देता.

    मैं बोला- तो इस बार तुम अकेली ही जाओ और उससे चुदवा कर आना फिर मुझे बताना कि इसका लंड कैसा लगा.
    मेरी बीवी खिलखिला कर हंस पड़ी.

    हम दोनों में तय हो गया कि इस बार सोनी अकेली ही डॉक्टर से मिलेगी.

    वो डॉक्टर के पास गई और डॉक्टर ने उसे अन्दर केबिन में ले जाकर पहले ऊपर से नंगी कर दिया.

    सोनी ने अपने दूध उसे दिखाए और उससे बोली- डॉक्टर साब जब मेरे पति मेरे दूध चूसते हैं तो मुझे बड़ा अच्छा लगता है मगर जब मैं अपने हाथ से अपने दूध को दबाती हूँ तो इसमें मुझे दर्द होता है.

    डॉक्टर ने सोनी की तरफ देखा और कहा- चलो मैं ये भी चैक कर लेता हूँ.

    सोनी ने ओके कहा और वो टेबल पर बैठ गई.

    डॉक्टर ने उसके एक दूध को अपने मुँह में ले लिया और चूसने लगा. सोनी की मादक सीत्कार निकलने लगी.
    कुछ ही देर में वो गर्म हो गई और उसने डॉक्टर को अपने पास खींच लिया.

    डॉक्टर भी समझ गया कि ये गर्मा गई है तो उसने सोनी से कपड़े उतार कर नंगी होने को कहा.

    सोनी तो चुदने के मूड में थी ही. उसने झट से अपनी साड़ी ब्लाउज उतार दिए और चुत खोल कर डॉक्टर को वासना से देखने लगी.

    डॉक्टर ने कहा- कुछ चाहिए?
    सोनी ने डॉक्टर का लंड पकड़ लिया और बोली- हां आपका ये चाहिए.

    डॉक्टर ने अपने कपड़े उतारे और मेरी बीवी पर चढ़ गया.
    उन दोनों में कुछ ही देर में चुदाई होनी शुरू हो गई.

    बीस मिनट बाद मेरी बीवी ने डॉक्टर का लंड अपनी चुत में झड़वा लिया.

    इस तरह से उसने एक गैर मर्द का लंड अपनी चुत में लेकर मजा ले लिया था.

    बाद में उसने मुझे डॉक्टर सेक्स कैसे हुआ, सब कुछ बता दिया.

    अब हम दोनों इसी तरह से अलग अलग मर्दों से और औरतों से चुदाई का मजा लेने लगे हैं.

    Read more
  • Sex escapades of sexy wife Story

    Hello everybody I am Yogita, I am back with another real life experience not mine but one of my friend. Names changed as per her request. Now here onwards please read the story in her own words.
    Hi guys, I am Amruta 28 years working wife with loving husband and no children, I got married 2 years back. I am fitness freak and maintained myself with fig of 34-26-34 with fair skin, my height is 5’4”. I am working in company where we have to work in 24*7 shifts. I am sharing my experience with cab driver of my company. We have company transport facility so every day I travel with cab, once I had night shift for two months that time only one driver used to pick n drop me his name was Javed, he was around 40 years in age not so good looking with little pot belly but had good beard. I never had any interest in him, we regularly used to talk on normal things while traveling as for this shift I used to be alone in cab. While our talks I told him that I am thinking of joining driving class, as I don’t know how to drive car. So he asked me “If I don’t mind he can teach me how to drive” I said how it is possible as I am having night n you also work at night. He said we are alone while going home (my shift time is 6 pm to 3 am) so that time there is no traffic also so he can teach me that time and will not take any fees. I was bit skeptical about his proposal but later thought that if I am getting free tuition why I should deny it n I finally agreed to his proposal. That time I wasn’t knowing this is going to change my relation with him.
    Next day after office hours our class started, on the way as we went to long deserted road we switched the seat, I went to driver seat and he sat next seat in front. I tried to drive but as I was very scared to drive so I did it all wrong n we missed an accident, that makes me more scared of driving so I somehow stopped the car but immediately got down, he comforted me saying that this is normal no need to worry I will learn but as I was scared he dropped me home.
    Next day after office he suggested me that there is open ground on our way where we can go and begin the class as on ground we have nothing to fear of accident, as my office is outskirt of city the ground was totally out of city and time being 3.00 am there was no possibility of someone being there for at least 4 hours. We drove there, as the ground was just a big open space there was pitch dark and no sign of anything in sight. As we went there, we switched the seats, now he started instructing me but still I was getting confused a lot, once I presses accelerator instead of brake, somehow I stopped the car but got scared like shit n started crying that I will never be able to learn driving. He put his hand on my back n hold one hand with his hand. I got bit relaxed with his touch, then he suggested that
    J: If you don’t mind I have suggestion.
    A: What?
    J: Let me sit behind you so that in case you have any problem I can control the car
    A: How can we sit on same seat?
    J: Don’t worry madam, you can trust me I won’t do anything wrong.
    A: I trust you but it will be uncomfortable for both of us and what if someone comes n see us.
    J: madam no one come to this ground till 10 am in morning so don’t worry and its just matter of few minutes. Once you get confidence you can drive alone I will just instruct you from side seat.
    After thinking I agreed, that day I was wearing kurti and leggings. Then he came n sat on seat then asked me to come inside, he spread his legs to give me space to sit. Car seat being not big enough to accompany two people, I had very narrow space to sit, somehow I sat between his legs but his belly was touching my back, it was like he was hugging me from behind but Javed was not doing any undue advances. He started the car n instructed me drive. Our thighs and hands were like one on other, I somehow drove for some time and was happy with my progress. Also I was bit aroused with being so closely sitting with other man than my husband. This continued for two days, I got used to his touches now, he used to put his hands on my waist, shoulders, but I never objected as he was touching me professionally. But it started making wrong effect on me I started getting aroused with his touches as my hubby was recently busy with his work and haven’t fucked me well in last almost 4 months. I was thinking that he will make some advances to fuck me but alas he wasn’t doing anything, he was behaving way too professionally. But here I was getting desperate and frustration start building in me. Next day I decided to get little bolder, so I wore sleeveless salwar suit with duppatta which has deep neck in front and back, it revealed lot of cleavage n back, as it was winter days I used to wear jacket on it so nobody in my office would think otherwise for me. Once the office was done, we moved to the ground and I removed my duppatta and jacket in order to seduce him, I wanted him to take a lead. So went n sat in front of him, within minutes I found his hard cock poking me from behind, I was more than happy so started driving. His beard touch on my bare back was making me mad and his head was on my shoulder so he could see massive valley of my boobs but today he kept his hands away from me n this make me little more frustrated. I moved back to touch my back to his belly n chest then I felt he too was aroused n he put hands on my thighs n brushed his chin with my bare shoulder, I was happy with this movements. He moved hands on my thighs waist even kissed lightly on my back making my pussy wet, but suddenly his phone rang n someone asked him to come immediately. I was pissed off for this, as I thought I will get good nice fuck but all in vain. Next day after office I went for cab but didn’t found Javed, there was different cab today with security guard. So I tried calling him but his phone was off. I was surprised with the events, next day I called him in afternoon.
    J: Hello
    A: Hello Javed ji where have you been, why didn’t you come yesterday?
    J: Sorry madam, actually I was on leave yesterday.
    A: What happened? Is everything all right?
    J: Yes. But I am requesting for shift change in office.
    A: Why? N what about our classes.
    J: Better you join driving school, I won’t be able to teach you.
    A: But what happened? You only promised me to teach now everything was going good, why the hell you suddenly changing shift? (I was angry more as I wanted his cock n this bastard was teasing me)
    J: Madam to be honest, yesterday you wore such sexy clothes, your sexy back was in front of me. This is too difficult for me to control, something bad may happen.
    A: Oh nothing will happen, I didn’t say anything to you then why are you worried. I want only you to pick me up from office tomorrow.
    J: No madam you don’t know how difficult it is for me to control myself, I don’t want that to happen
    (Now this bugger wants me to beg for his cock, I was angry but aroused same time as I like dominant men who make woman beg for fucking)
    A: No. You will come to pick me, I want to learn driving from you. So tomorrow don’t give any excuse.
    J: Ok madam will try. (He said n disconnected the call)
    Next day I was wearing tight jeans and sleeveless shirt and jacket on it, but before boarding cab n removed the jacket n kept in my bag and opened one button and sat in back seat. As we went to ground he got down n ask me to sit, he said he will teach me from another seat.
    A: No. let’s continue our regular way, I am not fully confident to control car.
    J: No madam, you don’t understand. I am unable to control myself looking at your sexy body, I will do something wrong.
    A: then do it, I don’t care.
    J: Ok fine.
    I sat with him on driver seat, as usual he put hands on my waist, today he can see my cleavage through the open button, and I had my hairs tied in pony so my entire neck was visible. He said today let’s get a step ahead, I said what do you mean? He said will instruct me without talking, I was amazed n asked how? He said when I have to turn left he will put his hand on my left hand and for right he will move hand on my right hand. If he put my right thigh I have to accelerate, if he touches my left thigh I have change gear and when he touch my belly I have to apply brake. I find it too interesting n I was instantly turned on with his suggestion. I immediately agreed, he too was now confident that I am in game now. So he put hands on my waist n then slowly he was moving hands on my bare hands and thighs, we both were enjoying I could feel his erection on my ass. Suddenly he put hand in forward n touch my belly I apply brake n we stopped. I asked him why do you asked me to stop.
    J: madam your skin is very soft so I got lost n so touched your belly
    A: you naughty. (I said this with seductive smile)
    J: I know madam.
    A: I can understand javed don’t worry.
    J: So should we go home?
    A: It’s just 4.00 I think lets practice more for some time and then we can go,
    J: Ok madam
    He got hint that I am also enjoying. So he pulled me even closer to him n said madam lets drive bit faster. But there is one problem, I asked what? He said how can I ask to horn? I thought a bit n said touch my neck for it, but he said it is uncomfortable for him to move hand so much. Then with naughty smile I asked him to kiss my neck. He was more than happy to listen this, we started again n he put hand on my right thigh to accelerate n pressed it gently. I let small moan, he understood I too want the same, now he kissed me on neck n I horn the car. This encouraged him n he started giving me kiss more times. I too was enjoying this game, he suddenly moved his left hand in my shirt n put on my naked waist n started moving on it. Now both of us were aware that what we were doing but still we were acting like we are driving. He cock was poking my ass from behind, his beard on my bare neck making me ticklish, in some time he said lets add more concentration to your drive, I said what plan you have? He said he will do anything to me but I must concentrate on driving without reacting.

    I found this very interesting so I readily agreed. So he was like ready for this so he immediately pulled me on him n asked me to drive. I started driving n he pinched my waist n kissed my neck, I moaned a little, he immediately responded that concentrate on driving, which I obeyed. Seeing positive response from me he became bolder n licked my neck n was playing with my soft belly. Now things were getting out of control from me n was getting bolder n bolder, he got hold of my bra covered boobs n started pressing them, this was too much for me I stopped the car he got bit scared but without saying him something I let out a moan. This was green signal for him n he continued his job, I put my hands on his hands n helped him to press my boobs harder. But he stopped all activities, I was frustrated n asked.
    A: What happened please continue.
    J: But madam. I can’t do it with you, as I don’t do this to anyone else then my wife and girlfriend.
    A: then think me as your gf.
    J: No I can’t
    A: Why not?
    J: Because my gf always behave as my command n doesn’t say no to me.
    A: ok. I will also do the same.
    J: I call them by their name, I use slang language.
    (I was so desperate to get fucked that without knowing I was agreeing to his terms)
    A: ok then don’t call me madam, call me Amruta.
    J: Listen madam. I know what you want n I will give it that to you but I have my conditions.
    A: I am fine with it.
    J: First listen. I will call you by name, I will use filthy language, I can abuse you, you can’t say no to anything. You will behave as I order you.
    A: ok I am ready, you can do whatever you want but please continue.
    J: ok. Then listen amruta, get up n remove you shirt completely and keep it in back seat and stand out of car.
    I immediately got out n open back door opened my shirt completely and kept it on back seat. He too came out of car n stood ahead of me, I was waiting for his next move.
    J: wow you have such a sexy fig bitch, now open my shirt while kissing my body.
    I immediately got near him, kissed on his lips n started removing his shirt button, his body had lot of hairs I kissed his chest n removed all his button while kissing chest, fat belly.
    J: I never imagined you are such a good whore amruta, I thought you are good decent lady.
    A: I am decent lady, just doing this for you.
    J: Shut up you slut n keep doing what I told you. Now go to front of car n bend on the bonnet with your hands spread on bonnet.
    I went to car laid my upper body on bonnet with hands upside, my entire back was just covered by thin bra strip. I decent working lady was lying half naked on bonnet and taking order from a 40+ year’s driver of her cab, this thought was making my pussy wet like anything. My panty was soaked with the juices, he came behind me n slapped hard on my ass.
    J: what a ass you have amruta. You know I wanted to fuck that tight ass from the day I saw you, whenever I used to see you with tight jeans I wanted to slap that ass hard.
    He kept slapping my ass while saying this to me, then he bent down licking my whole back. He was pressing my ass n side of waist, he removed hook of my bra n pulled me up n threw the bra on front glass of car, now I was topless with my short mangalsutra around my neck. As soon as he turned me I locked my lips with his n moved my legs around his legs, we kissed for 10 min like that n he pushed me down. I sat on my knees n opened his pant to my shock his cock was surrounded with thick hairy bush smelling with piss but most shocking was his cut cock was almost 9” in length n 4” thick which makde me crazy like hell. I suddenly took that in my mouth n started sucking it, though his size was choking me but I was beyond my control due to lust. I kept sucking his dirty prick, he pulled me up n removed my jeans n panty threw everything on front glass, picked me up n put on the bonnet, I spread my legs to welcome his cock, he too pushed his dick in me. It was hurting me as I never took this big in my life I cried
    A: please pull it back its hurtinggggggggg
    J: shut up you whore, you deserve to be fucked like this in open air.
    He kept pushing inside, I had tears in my eyes. But without caring he started pumping me holding my boobs, within sometime my pain subdued n I started enjoying
    A: aahhhhhhhhhhhhhhhhhhh fuccccccccckkkkkk meeeeeeeeeeeeeeeeeeeeeee hardddddddddd
    J: yes you bitch shout like that aaaaaaaaaaaahhhhhhhhhhhhhhhh
    He fucked me for while like that n again turned me around, cold bonnet was touching my hot boobs and he pushed again from behind n kept stroking like no tomorrow. I was moaning with pleasure, he took my both hands n locked them with his one hand on my back, now my body n face was on bonnet n he was ramming me from behind like riding a horse. I came atleast 4 time in a while, he kept fucking me for 20 min in that position n was about to cum he asked me to be on my knees n came on my boobs, he asked me to spread cum on my boob n don’t clean it. I obeyed him then he pulled me up n we kissed like lovers. It was almost 4.30 am, we got dressed up n he dropped me at home. I was so satisfied that I slept peacefully after many days.

    Read more
  • Sex With beggar girl

    Hello every body. I am going to tell you my own true story. First of all I will tell you about my self. My name is “HOME-ALONE” obviously not a real name. My age is 22. I am a student of computers. I live in India with my Father and Mother. Usually I come from college at 4 p:m. Sometimes my father and mother goes outside the home for shopping and I became alone at the home.
    It was also one of the evenings when mom and papa went outside the home to meet their relatives lived in different city. I was alone in home and watching the sexy pictures of girls on the computer. I had got a large collection of pics. All the pictures were of the naked girls with beautiful styles. I did not like the pictures of fucking and sucking. I was seeing the pictures and my dick was in my hand. At that time I had never fucked any girl and I was virgin. While I was seeing the pictures of the nude girls with my dick in my hand I listened the sound of the bell. I dressed up and went to the door to see who was outside. When I went outside I saw that a young girl was begging and she asked me to help her. I asked her to come inside the home and she did so. I had not thought negative about her. I took her to my room and asked her to sit on the chair. I asked her name. She told that her name is Kiran. I questioned her that why she beg in such age. She told that she belonged to a poor family. Her father had died due to poor health and they were so poor that could not admit her father in the hospital. She was the only daughter of her parents and she had no brother and now she lives alone with her mother. Her mother is also of poor health.She told me that she was hungry and wanted to eat something. So I went to the kitchen to bring something. I took bread and gave her to eat. When I had gone outside I had left my computer on. When I brought the bread for Kiran she was looking at the computer. There was a sexy screen saver running on the computer.

    I felt very ashamed and quickly turned off the computer. I had never thought that the screen saver would run at such a moment. Kiran asked me about the things that were running on the computer. I was answer less and remained quite. She asked me that she wanted to see the thing that was happened on the computer. I was totally surprised on her request. I asked her that what she was saying. She again asked me that she wanted to see the things that were on the computer. I turned on the computer and showed her the sexy screen saver. She asked me that had I ever fucked any girl or boy. I told her that I was a virgin. She asked me that how was it if you lose your virginity. I was totally shocked I had never thought that such a beautiful girl would offer me to do so. She asked me to show her something on the computer.
    Fortunately I had got a XXX CD so I put that CD in the CD-ROM and played the movie. When the movie started my dick also started to stand up. When the movie was running Kiran also started to get warm. She put her hand on my shirt and opened my buttons. I also started to unbutton her qamize. She put my pent down. When I had unbuttoned her qamize I took it off and tried to unhook her bra but as I had no previous experience of doing such a thing so I was unable to unhook her bra. She helped me to unhook the bra. I was amazed on the next moment when I saw her boobs. They were not too big and not small, they were of perfect shape and size. I had never seen such boobs in films or pictures. I started to suck them, as I was unable to control myself. She started to take my dick in her mouth. I had been used to hand practice. I had never felt such a good sensation in my whole life. I was enjoying the beautiful moments. The moments when you had seen first time a naked girl in front of you. I was about to cum when she was taking my dick in and out in her mouth. I told her that I was cumming but she didn’t care and I cummed in her mouth. She had drunk all of the sperms and taken them all in her stomach. My eyes were closed and I was enjoying the moments. After some time I started to lick her cunt. She was coming warmer and warmer. She was moaning with delight. Her cunt was wet and hot.

    My dick started to get up again. Kiran had come to extremes of her delight and she started to cum. She was moaning louder and louder with pleasure. Meanwhile the home bell rang. I was afraid that my mom and papa had come. I asked Kiran to get under the bed. She got under the bed. I turned the computer off. Quickly washed my sperms and her fluid and went outside to open the door. My heart was beating and color of my face had gone. I opened the door and mom and papa went inside the home. Mom asked me that what was wrong and I told her that it was all right. I was thinking that if mom would see Kiran she would kill me. When mom entered the home she went to my room. Now I was very terrified and my heart was going to come out of my body. When she saw the utensils in my room she asked me that who had come in my room. I told her that I was hungry and took the bread in my room. She went to her room and I thanked God that she had not seen Kiran. But the trouble had not gone yet my father came into my room and turned on the computer. He usually played Free Cell on the computer.
    When he started the game I knew that he would not went before two or three hours. My heart was beating. I thought that I Kiran would come out what would happen. Papa played the game for three hours and it was dark outside. When he went out of my room I locked the door and asked Kiran to come out. She came out of the bed. Her color had gone. I asked her that she could go to her home and I could drop her but I was amazed on her answer. She asked that it was too late and her house was far away so she could not go to her house. I asked her that then where would she stay the night if she would not went to house. She became quite. The telephone bell rang. I asked Kiran to get under the bed and she did so. I locked my room and gone to listen the phone. It was my uncle’s phone. He told me to call my father so I called my father and he listened the phone while he was listening the phone his face was changing expressions. Papa told me that my cousin had been injured in a road accident and they (mom and papa) had to go hospital and it was also possible that they would remain in the hospital for the night. Mom and papa went to the hospital. I went to my room and asked Kiran to come outside she asked me that what had happened and I told her the whole story. I took her to the TV cabinet and turned on the TV. I asked her to watch the TV and I went to the market to bring a XXX movie. The market was near to my home and I took the movie. She was watching the channel. I put the movie in the CD-ROM of my computer and the movie started.
    We sat on the bed. I took her clothes off and she took my clothes off. We were totally naked. The movie was very sexy. The scenes of the film were very sexy. After watching movie for about fifteen minutes we started kissing. I kissed on her mouth when our lips met, I was feeling myself in another world, the world of wonder and delight. She gave me so much pleasure that it could not be explained on the page. We kissed each other for five minutes I was very hot. I sucked her boobs, the beautiful boobs. The boobs that were never seen and about which I had never listened. They were so firm and nicely shaped that I sucked them for a long time meanwhile she was rubbing her hands on my thighs. We came into a 69 position and I licked her cunt and she took my dick in her mouth. I was feeling very nice. She started to moan. I changed the position and sat on her stomach. My dick was wet due to her spittle I put my dick in her beautiful boobs. It was so nice that I could not explain in the words. I started to fuck her boobs after a minute I began to cum on her boobs.

    We again started to watch the movie. After half an hour on a beautiful scene Kiran took my dick in her mouth. It again started to standup. She sucked it for two minutes. I was rubbing her beautiful boobs. I wanted to put my dick in her cunt. I told her that I wanted to put dick in her cunt. My dick was wet due to her spittle and her cunt was wet because she was so warm. I put the head of my dick in her cunt. My dick was 8 inches long and it was also large in the diameter. When the head of my dick went into Kiran, she started to moan. I was thinking that she is moaning due to pain. I asked her that was she feeling pain but she told me to put the whole dick in her cunt. So slowly I put my dick in her cunt. Kiran was moaning with joy. Whole of my dick was inside her cunt. I had never got such a pleasure in my whole life. For two minutes I remained my dick inside her cunt without any movement. After two minutes I started to move my dick. It was my first sexual intercourse and I was feeling very nice. I started to take the jerks politely. Kiran started to moan but that time I knew that she was moaning with pleasure. I had already cum two times. So my sperms were not going to come early. I fucked her until she started to flow meantime I also told her that I was cumming. She told me to cum inside her so I cum inside her. While cumming I was so exited that I closed my eyes with my dick inside her. She had also got the same situation. We were sleeping after a while in the same position. When my eyes opened I looked at the watch it was 6:30 am. Kiran was sleeping with me. I saw her beautiful face and kissed her on the lips and then I sucked her beautiful boobs.

    She was sleeping without any fears. My dick again started to get up. I kissed her on her mouth. She woke up and saw at me. She told me to fuck her for the last time. First we got in a 69 position. I licked her cunt and she sucked my dick. When I changed the position and started to give her my dick in her cunt, she stopped me. I was surprised that why she had stopped me to do so. She asked me to fuck her in her ass hole. I took a lotion and wet my dick.

     put some of the lotion on her ass hole. I slowly pressed my dick inside her. The cock went inside her and she started moaning. I put whole of my dick in her ass hole slowly. When the whole of my dick went inside her I started to give small jerks. I was feeling very good. Her ass hole was tight and I was feeling pressure on my dick. But the pressure was not giving me pain. It was giving me beautiful pleasure. After about 5 minutes I cum inside her. I was so tired that I went to sleep in the same position. When my eyes opened I looked at the clock. It was 8 a:m and I was afraid that if mom and father come. I set the cabinet and the room and cleaned it with the help of Kiran.
    I asked her that I should leave her to her home but she denied. When she was going out of my home I gave her 1000 rupees and thanked her for giving me so much pleasure.

    Read more
  • आंटी की तन्हाई चूत चोदन से मिटाई

    मेरे दोस्तो, मेरा नाम विजय है. मैं एक प्राइवेट कंपनी में जॉब करता हूँ. मैं अब तक अनमैरिड हूँ. मैं गुडगांव में रहता हूं.

    यह कहानी अभी कुछ दिनों पहले की है. एक बार में मोटोरोला के सर्विस सेंटर गया था. मैं एमजी रोड मेट्रो स्टेशन पर पहुंचा और वहां से मैं सर्विस सेंटर पर चला गया. मैंने अपना फोन सबमिट किया और मैं इंतजार कर रहा था. कुछ देर इंतजार करने के बाद मेरे पास में वेटिंग लाइन में एक 40 वर्ष की महिला आ कर बैठ गई. वह भी फोन को सबमिट कर उसको वापस पाने का इंतजार कर रही थी.

    उसी बीच एक कर्मचारी हमारे पास आया और वो मेरे पास आकर बोला- आपका फोन 3 घंटे बाद मिल जाएगा.
    उसकी बात सुनकर वो महिला भी उससे पूछने लगी- और मेरा फोन कितनी देर में मिलेगा?
    उस कर्मचारी ने उस महिला के फोन के लिए देखा और कहा आपका फोन भी तीन घंटे में ही मिल पाएगा.

    मैं तो उस कर्मचारी की बात सुन कर शांत बैठ गया, पर वह महिला बोली कि मैं 3 घंटे तक क्या करूंगी?
    वो आदमी उससे कुछ नहीं बोला और वापस चला गया. पर वो औरत भुनभुनाने लगी.

    इसी बीच मैंने अपना दूसरा फोन जेब से निकाला और आसपास के बीयर बार की लोकेशन देखने लगा. तो उस महिला ने मेरे फोन में ये देख लिया.
    वो मुझसे बोली- क्या तुम आस-पास के किसी बीयर बार का बता सकते हो?
    मैंने तो सर्च किया ही था. उधर से कुछ ही दूरी पर एक बियर बार था. मैंने उसको उस बार की लोकेशन बताई.

    उसके बाद उसने कहा- तुम बार की लोकेशन ही सर्च कर रहे थे न? तुम्हें भी बीयर बार जाना है क्या?
    मैंने कहा- हां इधर बैठ कर क्या करूंगा. मुझे भी वहीं जाना था, इधर 3 घंटे तक बैठने से अच्छा है कि उधर बैठ कर संडे एन्जॉय करूं.
    तो वह हंस कर बोली- हां यही मेरा विचार है. चलो तुम मेरी कार में चलो. हम दोनों ही चलते हैं.

    मेरे काफी मना करने के बाद भी वह नहीं मानी और मुझे जबरन हाथ पकड़ कर अपने साथ ले गई.

    हम दोनों वहां पहुंचे, तब तक वो मुझसे काफी बात कर चुकी थी. बार के अन्दर पहुंच कर उस आंटी ने एक वेटर को बुलाया और खुद के लिए बियर आर्डर की. आंटी ने मुझसे पूछा, तो मैंने भी बियर का आर्डर दे दिया.

    ये बियर के ब्रांड काफी तेज अल्कोहल वाले थे. बियर पीते पीते वो अपने बारे में बताने लगी. उसने बताया कि उसके हस्बैंड दुबई में बिजनेसमैन है और वह गुडगांव में फ्लैट लेकर अकेली रहती है.

    मैं उसकी हरकतों को देखता हुआ बियर के नशे का मजा ले रहा था. वो एक बड़े गहरे गले का टॉप पहने हुए थी जिसमें से उसकी दूध घाटी मेरे लंड को खड़ा किए जा रही थी. वो भी मेरी निगाहों को अपने मम्मों पर पाकर खुद झुक झुक कर अपनी फिल्म दिखा रही थी.

    फिर कुछ देर बाद उसने मुझसे मेरे बारे में पूछा, तो मैंने बताया- मैं गुडगांव में रूम लेकर रहता हूँ और जॉब करता हूँ.

    उसके साथ बातें करते करते 3 घंटे कब बीत गए, पता ही नहीं चला. हम दोनों ने दो दो बियर हलक के नीचे उतार ली थीं. बियर का नशा हम दोनों को मस्त कर रहा था. खैर वो भी पियक्कड़ थी इसलिए उसके लिए बियर पीकर कार चलाना कोई नई बात नहीं थी. हम दोनों कार से वापस सर्विस सेन्टर गए, वहां जा कर अपना अपना मोबाइल लिया.

    फिर मैंने आंटी से कहा- ओके अब मैं चलता हूँ.
    मैं जाने लगा, तो आंटी ने मुझे रोका और बोली- कल वैसे भी संडे है, तुम्हें ऑफिस तो जाना नहीं है, तो आज डिनर के लिए मेरे साथ चलो. फिर तुम डिनर करके चले जाना.

    उसका साथ मुझे भी अच्छा लग रहा था. तीन घंटों में हम दोनों काफी हद तक एक दूसरे से खुल चुके थे. वो भी मुझे एन्जॉय के मूड में दिखी. मैंने भी सोचा कि चलो इस समय फ्री तो हूँ ही. देखता हूँ कि आंटी क्या और किस हद तक मजा दे सकती है.
    मैं उसके साथ जाने को रेडी हो गया. उसने नीचे आकर अपनी कार स्टार्ट की. मैं उसके साथ बैठ गया.

    रास्ते से उसने एक शराब की दुकान पर गाड़ी रोकी और मुझे दो हजार का नोट देकर वाइन की बोतल ले आने के लिए कहा. मैंने पैसे के लिए मना किया और मैं उसकी पसंद की वाइन ले आया. पास ही सिगरेट की दुकान से मैंने गोल्डफ्लेक सिगरेट का पैकेट ले लिया.

    वापस कार में आकर बैठा, तो आंटी ने कार स्टार्ट की और कुछ ही देर में हम दोनों उनके फ्लैट पे पहुंच गए.
    आंटी का फ्लैट काफी सुंदर था. फ्लैट के इंटीरियर पर काफी ध्यान दिया गया था, ये काफी कीमती था. वो आंटी काफी पैसे वाली लग रही थी.

    हम दोनों अन्दर आ गए थे. मैंने उससे वाशरूम का पूछा, तो वो मुझे लेके गयी. मैं वाशरूम में जाके हल्का होके बाहर निकला तो देखा कि आंटी ने नाइटी पहनी हुई थी. आंटी बोली कि बड़ी जल्दी आ गए. मैं तुम्हारे लिए ये ट्राउजर और टीशर्ट लेकर आई थी. वापस जाकर बाथ ले लो, फिर तसल्ली से डिनर का मजा लेते हैं.
    मुझे भी कुछ यूं ही लग रहा था कि नहा लिया जाए. मैं कपड़े लेकर वापस बाथरूम में घुस गया और कुछ ही मिनट में शावर लेकर नहा कर बाहर आ गया.

    अब मैं आंटी की ड्रेस पर ध्यान दिया तो उसकी नाईटी तो एकदम ट्रांसपैरेंट थी. नाईटी के अन्दर उसने इरोटिक ब्रा और पैंटी पहनी हुई थी.
    मुझे देख कर वो सोफे पर बैठ कर सेंटर टेबल पर वाइन के पैग बनाने लगी. मैंने सिगरेट जलाई तो उसने एक खुद के लिए भी जलाने के लिए कहा. मैंने उसके आगे सिगरेट की डिब्बी बढ़ा दी. लेकिन उसने मेरे हाथ की सिगरेट ले ली और मुझे दूसरी सिगरेट जलाने की कह दी.

    मैंने दूसरी सिगरेट जला ली और उसके साथ वाइन पीने बैठ गया.

    हमने काफी बातें की और दो दो पैग वाइन पी. फिर वाइन खत्म होने के बाद उसने डाइनिंग टेबल पर आ कर पहले से आर्डर से मंगाया हुआ खाना सर्व किया.

    खाना खाने के बाद मैंने एक सिगरेट जलाई और उससे जाने का कहा.
    उसने मेरी जांघ पर हाथ मारते हुए कहा- इतनी भी क्या जल्दी है यार.. बैठ कर बात करते हैं न.

    हम दोनों उसके बैडरूम में गए. वहां जा कर वो मुझसे बात करने लगी.
    आंटी ने सिगरेट का कश लेते हुए बताया कि उसके हंसबेंड 2 साल में एक बार घर आते हैं, वो भी सिर्फ 7 दिन के लिए आते हैं.

    वो ये सब बताते हुए थोड़ी सेंटीमेंटल हो गयी थी. वो मुझसे चिपक सी रही थी. मैं उसे सांत्वना दे रहा था. उसके आंसू आने लगे थे.
    मैंने आंटी के आंसू पौंछे और कहा- आप टेंशन नहीं लो, जब भी अकेलापन लगे, तो मुझे याद कर लिया करो.
    तो उसने मेरी इस बात पर मुझे हग कर लिया और कहा- क्या तुम मेरी एक जरूरत पूरी कर सकते हो?

    मेरा तो लंड खड़ा ही हो गया था और मुझे आंटी को चोदने की पड़ रही थी. इस वक्त वो मुझे एक माल सी लग रही थी लेकिन मैं अब भी संयम रखे हुए था कि शुरुआत आंटी की तरफ से होगी, तब ही इसके साथ सेक्स की सोचूंगा. मैंने आंटी से पूछा- कैसी इच्छा?
    उसने कहा- क्या तुम मेरी शरीर की जरूरत पूरी कर सकते हो?

    पहले तो मैं चुप रहा. फिर मैं कुछ बोलता, उससे पहले ही उन्होंने मेरे लिप्स पे अपने लिप्स रख दिए और मुझे स्मूच करने लगी. थोड़ी देर में मैं भी उसका साथ देने लगा.

    इसी बीच उसने मेरी जीन्स में हाथ डाल दिया और लंड को पकड़ कर सहलाना शुरू कर दिया. मैं टांगें खोल कर उसको लंड सहलाने देने लगा. उसने मेरी शर्ट खोल दी और मेरे चौड़े मर्दाना सीने पे किस करने लगी.
    इसके बाद में उसने अपनी नाइटी हटा दी और वो सिर्फ ब्रा पैंटी में आ गई. उसने मुझे हाथ से पकड़ा और उठने का इशारा किया. मैं यंत्रवत उसके साथ उठ गया. उसने मुझे बेड पे लेटा दिया.

    वो नीचे से मेरी टांगों की तरफ आई और उसने मेरी जीन्स का बटन खोल कर जीन्स ओर अंडरवियरएक साथ नीचे कर दी. मैं पूरा नंगा हो गया था. मेरे खड़े लंड को देख कर वो एकदम से मचल गई और मेरी टांगों की तरफ से बेड पर आकर मेरे लंड को आंटी ने अपने मुँह में भर लिया. आंटी लंड चूसने लगी.
    मुझे जन्नत का मजा आने लगा.

    कुछ मिनट लंड चुसाई करने के बाद उसने अपनी ब्रा पैंटी भी उतार दी और मेरे सीने के दोनों तरफ अपनी दोनों टांगें डाल कर अपना एक निप्पल मेरे मुँह में डाल दिया. मैं आंटी के निप्पल को चूसने लगा और दूसरे चूचे को अपने हाथों से दबाने लगा. वो अब तक मेरे ऊपर लेट गई थी, जिससे मेरा लंड उसकी चूत से लग गया था.

    काफी देर तक आंटी के बूब्स से मज़े लेने के बाद मुझे अपने लंड पर उसकी चूत से पानी रिसता सा महसूस हुआ. मैंने उसको लंड से थपकी दी, तो आंटी ने अपने हाथ से मेरे लंड को पकड़ा और अपनी चूत में फिट करके लंड के ऊपर बैठ गई.

    मेरा लंड मोटा था. शुरू में मेरा आधा लंड ही आंटी की चुत में जा सका था. वो दर्द की वजह से कहराने लगी थी, पर कुछ देर में मेरा पूरा लंड अन्दर चला गया. वो कुछ देर लंड को अन्दर लेकर बैठी रही अपनी चूत से मेरे लंड की दोस्ती करवाती रही. फिर आंटी मेरे लंड पर ऊपर नीचे होने लगी.

    उसके बाद मैंने आंटी को अपने नीचे लिया और लंड उनकी चूत में डाल कर उसको दबादब चोदने लगा.
    इसी बीच वो एकदम से अकड़ कर झड़ गयी थी, पर मैं अब तक नहीं झड़ पाया था. मैंने लंड बाहर निकाला और आंटी ने मेर लंड को चूस कर खुद को दुबारा तैयार किया.

    अब आंटी डॉगी स्टाइल में आ गयी. मैंने पीछे से उनकी चूत में लंड डाल दिया और काफी देर चोदने के बाद खुद को चरम पर आता हुआ महसूस किया तो मैंने आंटी से कहा- मेरा निकलने वाला है.
    आंटी ने कहा- अपना रस मेरे बूब्स पर निकाल दो.
    वो लेट गयी और मैं उसके ऊपर आ गया. वो मेरे लंड को अपनी मुठ्ठी में लेकर हिलाने लगी. थोड़ी देर लंड हिलाने के बाद मेरा सारा माल उसके मम्मों पे आ गया. उसने खुद को साफ किया और मेरे लंड को साफ किया.

    इसके बाद एक दौर वाइन का फिर से चला और हम दोनों फिर से अभिसार के लिए गरम हो गए. उस रात हमने 3 बार चुदाई की, फिर सुबह हमने साथ में बाथ लिया. जाते समय आंटी ने मुझे 5000 रुपये दिए.
    मैंने मना किया तो आंटी ने कहा- मैं तुमको कोई गिफ्ट देना चाहती थी, लेकिन इस वक्त सम्भव नहीं है, प्लीज़ तुम बुरा मत मानना, अपने लिए कुछ भी मेरी तरफ से ले लेना.

    मैंने उसकी बात मान ली और उससे अलग होकर ओने घर चला गया.

    Read more
  • Maa ki chudai kahani on my birthday

    Mera naam hai akash or mai 12 th stand me padhta hun! Mjhe porn movies dekhna bahut he zyada acha lagta hai! Specially mom and son! Maine 8th class se porn dekhna shuru kari or porn ko dekh ke muthi marta..! Mai in porn movies ko dekhne ke bad kbhie kbhie apni ma ke bare me sochta ki agar is porn me yeh apni mom ko chodh sakta he toh mai kyu nhe! Par fir mujhe dar lagta ki mom toh mujhe mar he dalegi!

    Ab bat karta hun apni maa or family ke bare me mere dad ek business man hai or woh ajakal business ke kam se foreign jate rehte hai! Or mera ek bada bhai he jo ki banglore me apni engineering puri kar rha h! Toh wo chuttyo me he he ghar aata tha delhi me!

    Ab mai apni pyaari or behad sundar maa ke bare me baat karta hun! Meri maa ka nam Shalini hai! Unki age 38 hai or woo ek housewife hai! Magar unka face or unki figure kisi model se kam nhe hai! Wo ek dum gori ! Unke boobs are like hell! Jab mom tight jeans or rop pehanti hai toh man karta hai bas apni maa ko khaa jaun! Magar wo ghar me saree ya suit he pehnti hai! Or saree me unka navel jab dikhta hai wohhhh kya navel he man karta hai isko pura din chatte rahoo! Ab mai kahani pe aata hun!

    Baat hai 3 months pehle ki dad ki meeting ke liye dad ko australia jana padha for 2 weeks ke liye or meri mom jo ki har sunday dad ka loda leti the! Ab wo unke naseeb me 2 hafte nahe tha toh mere man me khayal ane lage ki kyuu na is sunday mai apni mom ko chodun! Or is sunday mera birthday bhe tha!

    Toh thursday shym dad ko airport chodhne ke bad mom or mai wapis ghar aye! Humne rat ko dinner kiya! Or fir dinner karne ka bad maine apni mom se kaha mom mai bhe aj se aapke room me sone ajaun! Toh mom ne mjhe han bol diya! Rat ko 1bje jb meri mom ko neend padh gayi but mai toh apni mom ka pyaasa tha mom ne rat ko nighty pehani hue the or andar pink bra and panty!

    Toh rat ko maine dheere dheere apne maa ke stomach pe hath rakha! Mom neend me the toh unhe kch zyada pta nhe laga! Fir maine dheere dhere hath upar bade boobs ke pas toh wo ek dum se uth gayi toh unhone mjhe dekha par maine sone ki acting kari fir wo mjhe dekh ke so gyi! Agle din subah unhone mjhse pucha ki tu rat ko kya kar rha tha! Toh maine kaha maine kya kiya mom mai toh so rha tha!

    Fir mom ne mjhe kuch nhe kaha! Or mai nahake breakfast karke chala gya! Saturday rat ko mom ne mjhse pucha ki beta tera kal birthday he tjhe kya gift chahiye! Toh maine bola maa mjhe is bar aisa gift chahye jis se aap bhe khush ho jao or mai bhe!

    Toh mom ne kaha tjhe aisa kya chahye jis se tu bhe khush or mai bhe ! Maine kaha mom wo toh ab apko sochna hai! Par maine kaha jo mjhe chahye wo toh apko dena he padega! Agar apne mana kiya toh mai.apse kbhie zundagu me nhr bat karunga! Toh mom ne kaha thk he jo tu bolega wo he milega! :P

    Toh rat ko dinner ke bad hum so gye or agle din uth ke maa ne mjhe wish kiyaa or kaha beta rat ko tera birthday celebrate karenge! Mim ne mjhe chicks pe kiss kiyaa! Ohho unke gulabii honth man kar rha tha chum lun! Par wo tym jald he ane wala tha! Maine apni mummy  se kaha ki ap aj rat ko apni black wali saree pehana! Toh usne ne kaha ohk beta!

    Abb mai apni mummy ko chodne ki tyaari akrne laga! Pehle toh mai market se jakar condom or ek power ki goli le aya are bahiyoo apni maa ko pehli bar chodunga! Toh dhang se chodna toh banta hai na! Abb bari the pariksha ki!

    Mai rat ko apne frnds ko party dene ke bad 10bje ghar aya toh maa black saree me ek dum pataka ban kar sofe pe beth kar mera wait kar rhe the! Unki navel side se kya lag rhe the itni gori! Or unke boobs braa me kya chamak rhe the! Ais alag rha tha bahar he girne wale ho! Or unki lajawab gand omg ! Just awesome! Man! fir hum dono bethe or humne cake kata mom ne mjhe apne hatho se khilaya fir maine maa ko khilya fir mummy ne kaha beta bta tjhe ais akon sa gift chahye tha jis se mai bhe khush or tu bhe khish.

    Toh maine mom ka hath pakda or kaha mom mjhe ap chahye! Toh maa ne kaha yeh kya bol rha h! Toh maine kaha han! Mjhe ap bahut ache lagte ho or mai apke sath sab kuch karna chahta hun. Fir maa ne mjhe gusse se dekha or kaha ye bakwas mat kar tera birthday hai toh yeh nhe ki jo tu bolega wo milega utjhe!

    Maine kaha maa apne promise kiya tha! Ma ne kaha aone room me jakar chup chap so ja! Mai bhe pagal ho rha tha maine apni mom ka hath pakda or unhe kiss kiya or unke bboobs pe hath rakh ke dabane laga! Mom ne mjhe dhaka diya! Or kaha tum pagal ho gye ho kya! Apni mom ke sath yeh sb kar rhe ho! Dad ko pata lagega toh kya hoga! Yeh sb galat hai!

    Fir maine mom ke boobs ko or dabaya toh mom ne mjhe dhaka diya or mjhe chanta mar diya! Fir mere sare sapne tut gye! Mai apne room me chala gya mom ko bol ke ki aj ke vad apse kbhie nhe bat karunga ! Apne apna promise toda hai! toh fir mai apne room me beth ke dhukh bna rha tha ki ! Gyi chut hathse! Par usi tym meri mom !ayi or unhone mjhe pyaar se smhhaya beta tu kch or gift mang mai tjhe leke dungi but yeh sb mom ke sath karna galat hai u r my son! Maine kaha nhe mjhe toh bas apka yeh badan chahye!

    Mom ne kaha yeh nhe ho skta! Fir maine kaha ap bhe toh har sundya papa ke sath sex karte the na! Maine apko dekha he ap ka bhe zaroor man kar rha hoga! Toh mom ne kaha chup hoja aise bate nhe karte! Maine fir mom ko kaha ap yahan se chale jao toh unhone kaha acha tu mjhe bas ek kiss karle! Maine kaha mai smooch amrna chahta hun toh unhone kaha bas smooch se zyada kch nhe or yeh baat dad ko nhe pta lagni chahye! Maine unhe neck se pakda or smooch marna shuru ki waahhh kya taste a rha tha un gulabhi hontho ka ais alag rha tha amrit chakh liya ho! Fir dhere se maine unke navel pe hath ferna shuru kiya toh wo thdi tdi awaazw nikalana shuru kari fir maine unke boobs par hath lagay a fir unhone kaha nhe bas tumne smooch karne ko kaha tha bas karliya ab so jao,! Par ab mai jag chuka tha!

    Maine apni mom ko pakda or kaha nhe maa ab toh yahan suhagrat banegi bete or maa ki maaa boli tu fir aise bate kar rha h! Maine mom ke navel ko chatna shuru kiya unka pura pet cjat gya woo mana kar rha the par mjhe unki awaaz se laga ki unhe abb maza ana chalu ho rha h! Maine unki black sare utar di! Or wahh us red bra or red panty me meri maaa kya lag rha tha ek dum model! Fir maine unke boobs dabaye bra me r or unki smooch mar rha tha ab mom ne bhr sath dena shuru kar diya tha unki gand par hath mara maine itni soft gand! Maza he agya tga! Fir mainr unki bra utari or unke boobs ko drkh ke pagal he hogya itnr gore or bade boobs nipple.ek dum gulabi!

    Fir maine unhe 25-30min dhang se chusa or meri maa ki awaaze ab or tez hogyi the ! Toh fir bari asal cheez ki maa ki chut maine unki pyaari si net wali panty kholi or seedha chut par hamla kar diya meri maa ki chut pink or clean shaved ! Usko dekh kar chakar he. Arhe the maine use lick kar meri maa ahahahah ahahah beta tu apni maaa ko chdh ke he rahega na! Or chila rhe ahahahahahhahah fuck me son! Hard ohh! Ahahahah !

    Fir wo uthi unhe mjhe kiss kar or mera lund hath me liya or kaha waha dad se bada karliya he tune apna! Fir unhone mera lund chusa kya mzaa a rha tha! Meri maa mera loda chuz rhe the ! Wo puri nangi the itom bomb lag rha the maine wo power ki goli toh kha he raki the toh mom ne mere lund pe condom chaday or kaha aja beta is chut ki pyaaz bhujade ab!Mai maa ke upar cahdh gya or mom ne apne hathse mera lund chut me dala or mai fir upar neche hone laga maa ki awaaze ane lagi ahhaaaaaahh ohhhhhh ahhhhha fuckme harder fir mai tez hua! Bahut tez ! Mom ahahahahahah ahhahaha tu toh bahut bada ho gya hai! Apni am ko he chodh rha he aj! Maine kaha ap abhe lund enjoy akro mommy!

    Fir kch der bad maine lund nikala or apni mummy ko lhada kar ke unki gand me lund dala unki gand ko touch akrke itna maza a rha tha or jaise he lund ghusa wo toh pagal he hogyi kyuki ajj se pehle dad ne bhe mom ki gand nhe mari the unka first tym tha toh woo cheekg rhee the ahaaahaaa haa ohhhhh or dal bets or dala bahut maza a rha he aj apni maa ke maze le le! Maine bahut choda maa ko fir akhri me unke chuche fir se chuse or unhone mera lund apne boobss ke beech me rakha or muth mari or akhir kar unke boobs par mera chadh gya or meri tamana puri hie!

    Fir hum so gye! Agle din mai utha mummy naha ke jean or top me bahut fadh lag rhe the unhone mjhe kaha ttune le lita na spna gift apni mom ko chod ke maine kaha thank u mom! Maa ne kaha thank u abb har 2 din bad mjhe tmhara he lund chahye!

    Read more

Latest Articles

Most Popular

  • Sex Guruji
  • Theporndude
  • Leaked Onlyfans
  • Desi Leaks
  • Desi Girls
  • Hot Videos
  • Tamil Sex
  • Jav Streaming
  • - Homemovies Tube
  • Best Free Pornsites